उत्तराखण्ड

बड़ी खबर(उत्तराखंड)मौसम के येलो अलर्ट को देखते हुए जिला प्रशासन अलर्ट मोड में. डीएम के आदेश जिला मुख्यालय छोड़ने की भी अनुमति नहीं।

देहरादून,=: मौसम विभाग द्वारा शनिवार को जारी मौसम पूर्वानुसार राज्य के कुछ जनपदों में गर्जन के साथ ओलावृष्टि/आकाशीय बिजली एवं 3000 मीटर व उससे अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भारी बर्फबारी होनें के चलते राज्य में विशेष एतिहाद बरतने के निर्देश दिए गए हैं टिहरी चमोली रुद्रप्रयाग तथा उत्तरकाशी जनपदों में प्रशासन को अलर्ट मोड पर रखा गया है उत्तरकाशी के मुख्य विकास अधिकारी ने संबंधित एजेंसियों को आदेश जारी करते हुए कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए गए है-

1- यात्रियों/ट्रेकरों के मौसम की जानकारी देते हुए लगातार वर्षा/बर्फबारी होने पर यात्रियों को सुरक्षित स्थानों पर रुकवाये।

2- नोडल/सेक्टर अधिकारी निगरानी करते हुये सम्बन्धित से समन्वयक कर निरन्तर कण्ट्रोल रूम में सूचना देना सुनिश्चित करेंगे।

3- राष्ट्रीय राजमार्ग में संवेदनशील स्थानों पर पर्याप्त मशीनरी/ऑपरेटर की तैनाती रखे। मार्ग बाधित होने पर तत्काल सुचारू करवायें।

4- NH, PWD, PMGSY, ADB, BRO, WB, CPWD आदि किसी भी मोटर मार्ग के बाधित होने की दशा में उसे तत्काल खुलवाना सुनिश्चित करेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर (उत्तराखंड) उत्तरकाशी बस हादसा. हल्द्वानी की महिला सहित तीन तीर्थ यात्रियों की मौत. हल्द्वानी, रुद्रपुर लालकुआं. के लोग घायल . देखें सूची।।

5- समस्त राजस्व निरीक्षक, ग्राम विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत अधिकारी, समस्त सेक्टर क्षेत्रों में बने रहेंगे। अपने-अपने क्षेत्रों से वर्षा/बर्फबारी/रोड़ आदि की सूचना आपदा कन्ट्रोल रूम में देना सुनिश्चत करेंगे।

6- समस्त थाना/पुलिस चौकियों वर्षा/बर्फबारी को देखते मार्ग अवरुद्ध होने की स्थिति में यातायात को सुरक्षित स्थान पर रुकवाना सुनिश्चित करेंगे तथा मौसम सामान्य होने की स्थिति पर रवाना करेंगे। पुलिस आवश्ककता अनुसार यातायात को नियमित तथा नियंत्रित भी करेंगे।

7- समस्त थाना/चौकी SDRF/QRT टीम भी आपदा सम्बन्धी उपकरणों एवं वायरलैस सहित अलर्ट में रहेंगे।

पौड़ी के जिला अधिकारी ने 04 फरवरी, 2024 (यैलो अलर्ट) को जनपद के कुछ स्थानों पर कहीं-कहीं गर्जन के साथ आकाशीय बिजली चमकने / ओलावृष्टि होने की सम्भावना व्यक्त की गई है। उक्त के दृष्टिगत जिलाधिकारी द्वारा निम्न सावधानियां बरतने हेतु निर्देशित किया गया है।

1- प्रत्येक स्तर पर तत्परता बनाये रखते हुये सावधानी सुरक्षा एवं आवागमन में नियन्त्रण बरता जाय।

यह भी पढ़ें 👉  दु:खद(उत्तराखंड)कार खाई में गिरी. दो की मौत।।

2-

किसी भी आपदा/दुर्घटना की स्थिति में त्वरित स्थलीय कार्यवाही करते हुए सूचनाओं का तत्काल

उपलब्ध करायी जाये। जनपद/तहसील स्तर पर आई०आर०एस० प्रणाली के नामित समस्त अधिकारी एवं विभागीय नोडल अधिकारी, अलर्ट स्थिति में रहेंगे। 3-

4- लोक निर्माण विभाग / राष्ट्रीय राजमार्ग/पी०एम०जी०एस०वाई०/ए०डी०बी० आदि किसी भी मोटर मार्ग के बाधित होने की स्थिति में अवरूद्ध / खोले गये मोटर मार्गों के सम्बन्ध में समय-समय पर नियमित रूप से सूचना जिला आपातकालीन परिचालन केन्द्र को अनिवार्य रूप से उपलब्ध करायी जायेगी।

5-

समस्त राजस्व उपनिरीक्षक / ग्राम विकास अधिकारी / ग्राम पंचायत विकास अधिकारी अपने-अपने क्षेत्र में

बने रहेंगे। समस्त चौकी थाने भी आपदा सम्बन्धी उपकरणों एवं वायरलैस सैट सहित अलर्ट एवं क्रियाशील अवस्था में रहेंगे। 6-

7- उक्त अवधि में किसी भी अधिकारी / कर्मचारी के मोबाइल फोन स्विच ऑफ नहीं रहेंगे।

अधिकारीगण बरसाती, छाता, टार्च, हैलमेट तथा कुछ आवश्यक उपकरण एवं सामग्री अपने वाहनों में

8- अपने स्तर से रखने हेतु उचित कार्यवाही करेगें।

यह भी पढ़ें 👉  (बड़ी खबर) उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने स्नातक स्तरीय पदो की जारी की नई अपडेट ।।

9- उक्त अवधि में लोगों के फंसे होने की स्थिति पर खाद्य सामग्री व मेडिकल की व्यवस्था की जाय।

10- विद्यार्थियों की सुरक्षा के दृष्टिगत विद्यालयों में सावधानी / सुरक्षा बरती जाय।

11- असामान्य मौसम, भारी वर्षा की चेतावनी के दौरान उच्च हिमालयी क्षेत्रों में पर्यटकों के आवगमन को अनुमति न दी जाय।

12- नगर एवं कस्बाई क्षेत्रों में नालियों एवं कलवटों के अवरोधों को दूर किया जाय।

14- समस्त सम्बन्धित अधिकारी किसी भी प्रकार की आपदा की सूचना जिला आपातकालीन परिचालन केन्द्र पौड़ी के फोन नम्बरों-01368-221840 पर सूचना तत्काल देने का कष्ट करें। 15- जनपद गढ़वाल की समस्त तहसीलों में आवंटित सैटेलाईट

16- फोन क्रियाशील अवस्था में रहेंगे। समस्त जनपदीय स्तरीय अधिकारी इस दौरान जिला मुख्यालय पर उपस्थित रहेगें। बिना जिलाधिकारी महोदय की अनुमति के मुख्यालय नही छोड़ेगें।

अतः मौसम विभाग द्वारा जारी मौसम पूर्वानुमान के दृष्टिगत उक्त बिन्दुओं पर आवश्यक कार्यवाही करने करने का कष्ट करें।

To Top