उत्तर प्रदेश

बिग ब्रेकिंग (उत्तराखंड) हौसले बुलंद.खींच दी रेखा. अब इस रेखा पर अन्य लोग भी चलने का करेंगे प्रयास. रानीखेत टू हल्द्वानी सारथी बनकर चलती है रेखा ।।

हल्द्वानी -: यदि आपको हल्द्वानी रानीखेत के मध्य महिला टैक्सी ड्राइव करते हुए मिल जाए तो आश्चर्य की बात नहीं होनी चाहिए अब आपको इस रूट पर प्रतिदिन रानीखेत और हल्द्वानी के मध्य महिला टैक्सी संचालित करते हुए दिखाई दे सकती है हम बात कर रहे हैं रेखा पाण्डेय की जिन्होंने राज्य की महिलाओं के लिए एक ऐसी रेखा खींची उसकी बराबरी करने के लिए अन्य महिलाओं को भी प्रेरणा लेनी होगी रेखा पांडेय मूलतः बागेश्वर के गरुड़ क्षेत्र के भेटा गांव की रहने वाली हैं, जिनका ससुराल रानीखेत के ताड़ीखेत में स्थित है।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर(देहरादून) राज्य में तबादलों को लेकर बनने लगी सहमति,इस दिन तक दिया गया वक्त।।।


जिन्होंने टैक्सी चालक बन चुनौतियों को मुंहतोड़ जवाब देकर नई नज़ीर पेश की है। रेखा लोहनी पाण्डेय टैक्सी ड्राइवर का काम पिछले तीन महीने से कर रही हैं। इसके लिए उन्होंने बाकायदा परिवहन विभाग से अपना लाइसेंस बनवाया वे उत्तराखंड की पहली महिला टैक्सी ड्राइवर होंगी।
टैक्सी चालक रेखा के पति फौज से रिटायर्ड हैं। उन्होंने बताया की पति मुकेश चंद्र पाण्डेय का स्वास्थ्य खराब होने की वजह से जिम्मेदारी खुद पर ली है, हालाँकि अब पति का स्वास्थ्य सामान्य है, वह प्रतिदिन टैक्सी सुबह रानीखेत से हल्द्वानी तक आती है और दोपहर बाद वापस रानीखेत के लिए सवारियों को लेकर चली जाती हैं। रेखा ने बताया की उन्होंने डबल एम.ए के साथ मास्टर्स इन सोशल वर्क (MSW) और और हल्द्वानी के वासुदेव कॉलेज से(LLB) की पढ़ाई कर रही है। जहां चुनौतियों के आगे अधिकांश लोग हार जाते हैं तो वही रेखा ने मुश्किल हालातों का सामना करते हुए एक ऐसी मिसाल पेश की जो वाकई पहाड़ पर एक नया अध्याय है वह इसलिए कि इसके बाद और भी ग्रहणीओं को रेखा को देख कर भी आत्मविश्वास बढ़ेगा और वह आज के इस कंपटीशन के दौर में समाज के साथ डटकर कदमताल कर सकेंगी । राज्य के परिवहन मंत्री चंदन रामदास ने भी उत्तराखंड की पहली महिला टैक्सी ड्राइवर रेखा पाण्डेय से फोन पर बात कर उनको बधाई और शुभकामनाएं प्रेषित की हैं। परिवहन मंत्री चंदन राम दास ने रेखा पांडे को महिलाओं के लिए प्रेरणा बताया है हुए उनसे बात की।

To Top