उत्तराखण्ड

दु:खद(उत्तराखंड) कॉर्बेट में गश्त के दौरान बाघ का हमला. कर्मचारियों की गई जान ।।

रामनगर। अपने तीन साथियों के साथ कॉर्बेट नेशनल पार्क में गस्त के दौरान दैनिक श्रमिक पर बाघ ने हमला कर दिया तथा एक श्रमिक को जबड़े में पकड़कर जंगल को खींच ले गया जब तक अन्य साथी कुछ समझते तब तक बाघ ने उसे बुरी तरह से घायल कर दिया चीक पुकार तथा हवाई फायरिंग के बाद बाघ वन श्रमिक को छोड़कर जंगल में ओझल हो गया आनंन-फानन में साथी उसे अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया इस घटना से कार्बेट प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है मिली जानकारी के मुताबिक बुधवार की दोपहर ढाई बजे कार्बेट टाइगर रिजर्व की कालागढ़ रेंज के सैडिल डैम बीट के पटेरपानी तिराहे के पास कॉर्बेट टाइगर रिजर्व के दैनिक श्रमिक रणजीत सिंह, शिताब सिंह तथा पवन कुमार शामिल गश्त पर थे। इसी बीच यहां झाड़ियों में छिपे एक बाघ ने गश्तीदल पर हमला कर दिया। इससे पहले गश्तीदल कुछ समझ पाता बाघ ने वन बीट वाचर पवन कुमार को अपने जबड़े में खींच लिया। बाघ के हमले से सकपकाए पवन के अन्य साथी कर्मियों ने शोरगुल कर फायरिंग की। जिससे बाघ पवन को लहूलुहान हालत में मौके पर छोड़कर भाग गया।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर (उत्तराखंड) इस जनपद में नोटरी पद के लिए करें आवेदन।।

घटना की जानकारी मिलने पर वन क्षेत्राधिकारी नन्दकिशोर रूवाली मौके पर पहुंचे। जिसके बाद घायल पवन को काशीपुर के चिकित्सालय में पहुंचाया। जहां डॉक्टर्स ने पवन को मृत घोषित कर दिया। घटना का पता चलते ही कालागढ़ की एसडीओ डॉ. शालिनी जोशी, वन दरोगा महेश जोशी आदि भी चिकित्सालय पहुंच गए। जिसके बाद मृतक के शव का पंचनामा कर उसके पोस्टमार्टम की कार्यवाही की गई ।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर(उत्तराखंड)अब टनकपुर से चलने वाली यह ट्रेनें हुई निरस्त।।

दैनिक श्रमिक पवन कुमार (32 वर्ष) की मौत से वन विभाग में शोक की लहर है। मृतक जनपद बिजनौर के धारा गांव का रहने वाला था। उसके दो बेटियां, पत्नी व माता पिता आदि है। मौत के बाद से मृतक के घर में कोहराम मचा है। कार्बेट टाइगर रिजर्व के निदेशक डा.धीरज पाण्डेय ने मृतक परिवार को तात्कालिक सहायता आदि देने के निर्देश देते हुए घटनास्थल की स्थिति का अध्ययन कर कैमरा ट्रैप लगाने के निर्देश दिए है।

To Top