अल्मोड़ा

(जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क) गर्मी बढ़ी तो एक ही वाटर होल में आकर पानी पी रहे हैं वन्य जीव.[बंगाल टाइगर को लग गई गर्मी]

(RAM NAGAR)जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क में वन्य जीवों की प्यास बुझाने के लिए कॉर्बेट प्रशासन ने तैयारी पूरी कर ली है कार्बेट टाइगर रिजर्व के ढिकाला,सर्पदुली, बिजरानी, ढेला, झिरना, तथा कालागढ़ रेंज समेत समूचे पार्क क्षेत्र में करीब डेढ़ सौ वाटर हौलो में जल आपूर्ति टैंकरों के माध्यम से की जा

रही है जिससे इन वाटर हौलो के पास वन्य जीव आकर अपनी प्यास बुझा रहे हैं। वर्तमान में वनाग्नि काल चरम सीमा पर है तथा गर्मी का प्रकोप भी बढ़ रहा है। गर्मी का प्रकोप बढ़ने से प्राकृतिक जल स्रोतों सूखने लगे हैं जिससे वन्य जीवों हेतु पेयजल आपूर्ति में कमी आ जाती है इस समस्या को दूर करने के लिए जगह-जगह वाटर होल का निर्माण किया गया है वन क्षेत्राधिकारी ढेला और बिजरानी रेंज भानु प्रकाश हर्बोला

यह भी पढ़ें 👉  (दीजिए बधाई) पूर्वोत्तर रेलवे इज्जत नगर मंडल के रोशन कुमार ने सीबीएसई बोर्ड दसवीं क्लास में 95.2 अंक हासिल कर किया मंडल का नाम रोशन।।

ने बताया कि ढेला और बिजरानी रेंज के समस्त वाटर हौलों का बीते रोज निरीक्षण कर उन वाटर होलों को प्राकृतिक जल स्रोत अथवा टैकरों के माध्यम से वन्य जीवों हेतु जलापूर्ति कर दी गयी है। तथा पेयजल की आपूर्ति बाधित न हो इसको लेकर स्टाफ को वाटर हौलों की समय-समय पर मानिटरिंग करने के निर्देश दिये गये है ताकि वन्य जीवों के पीने के पानी हेतु किसी भी वाटर हौल में पानी की कमी न रहे ।
इसके अलावा कार्बेट टाइगर रिजर्व के कालागढ और झिरना रेंज के अन्तर्गत बढ़ रही गर्मी को देखते हुए अवस्थित समस्त वॉटरहॉलों में प्राकृतिक जलस्त्रोत अथवा टैंकरों के माध्यम से वन्यजीवों के लिए पर्याप्त जलापूर्ति की व्यवस्था की जा रही है। वन क्षेत्र अधिकारी नंदकिशोर रूवाली ने बताया कि इन दोनों रेंज के करीब 30 वाटर हौलो में समय-समय पर वन्यजीवों की पेयजल हेतु निगरानी भी की जा रही है। जिससे बढ़ती गर्मी में वन्यजीवों के पेयजल की व्यवस्था पूर्ण की जा सके । उन्होंने कहा कि बढ़ती गर्मी के चलते अब वन्य जीव एक ही वाटर हाल पर आकर पानी पीते हुए दिखाई दे रहे हैं जबकि रॉयल बंगाल टाइगर भी गर्मी से निजात पाने के लिए वाटर हौल में बैठकर अपनी गर्मी को शांत कर रहे हैं।।

To Top