उत्तराखण्ड

बड़ी खबर(उत्तराखंड) मई माह में हो गई भारी बरसात से शुरुआत.जनजीवन अस्त व्यस्त नदी नाले उफान पर ।।

उत्तराखंड मौसम विभाग की भविष्यवाणी कुमाऊं मंडल में सच साबित होते हुए दिखाई दी जिसे सबसे बड़ा फायदा पहाड़ों पर पिछले कई दिनों से जंगलों में आग को नियंत्रित करने में रहा ऐसे में अब पहाड़ों पर हुई भारी बारिश के चलते जहां पहाड़ों पर लगी आग धीरे-धीरे बुझी वही अल्मोड़ा और

बागेश्वर जिले के सोमेश्वर में बुधवार रात अचानक अतिवृष्ट के चलते अफरा-तफरी मच गई। जिस कारण क़ई घरों में मलवा घुस गया तो क़ई मकानों में दरार आ गई। मलवे और पानी के कारण अल्मोड़ा- बागेश्वर जिले को जोड़ने वाला हाईवे भी बंद हो गया। घटना से ग्रामीण रात भर दहशत में रहे.
अल्मोड़ा के सोमेश्वर में बुधवार रात अचानक भारी बरसात के बीच अफरा-तफरी मच गई और क़ई घरों में मलवा घुस गया तो क़ई मकानों में दरार आ गई। मलवे और पानी के कारण अल्मोड़ा- बागेश्वर जिले को जोड़ने वाला हाईवे भी बंद हो गया। घटना से ग्रामीण रात भर दहशत में रहे।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर(उत्तराखंड)अब हल्द्वानी.देहरादून.रुद्रपुर. हरिद्वार. में होगा बेहतरीन सिटी बस सेवा संचालन. मुख्य सचिव ने दिए निर्देश।।

करीब एक घण्टे तक बारिश ने अपना तांडव दिखाया जिसमें लोगों का काफी हद तक नुकसान हो गया। किसी के घर मलवे से भर गए तो किसी के घर मे दरार आने से नुकसान हुआ। लोगों का जरूरत का सामान भी मलवे और पानी से बर्बाद हो गया। बारिश रुकने के बाद ग्रामीण अपने घरों की तरफ लौटे। मलवे के कारण अल्मोड़ा- कौसानी हाईवे भी बंद हो गया, जिससे वाहनों की आवाजाही भी बंद रही।

यह भी पढ़ें 👉  दर्दनाक हादसा(उत्तराखंड) कार की चपेट में आने से दो युवकों की मौत।।

कई वाहन मलवे में भी फंसे रहे। इधर इस घटना से छेत्र की साईं और कोसी नदी भी उफान पर आ गई। भारी बारिश की सूचना पर प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची। अधिकारियों का कहना है कि घटना से किसी तरह की जनहानि नहीं हुई। नुकसान का आंकलन किया जा रहा है।

To Top