उत्तर प्रदेश

बिग ब्रेकिंग-: पुलिस महानिरीक्षक कुमाऊं परिक्षेत्र डाo नीलेश आनंद भरणे ने वार्षिक अपराध गोष्टी पर उत्कृष्ट कार्य करने पर कर्मचारी और अधिकारियों को किया सम्मानित.कार्यों के आधार पर उत्कृष्ट थाने भी हुए चयनित.दिया गया सम्मान।

हल्द्वानी-: पुलिस महानिरीक्षक कुमायूँ परिक्षेत्र डॉं. नीलेश आनन्द भरणें की अध्य़क्षता में कुमायूँ परिक्षेत्र की वार्षिक अपराध गोष्ठी पर उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों एवं पुलिस कर्मचारियों को सम्मानित किया गया इस दौरान कार्यक्रम में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ऊधमसिंहनगर डॉ. मंजू नाथ टीसी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नैनीताल श्री पंकज भट्ट, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अल्मोडा श्री प्रदीप राय, पुलिस अधीक्षक चम्पावत श्री देवेन्द्र पिंचा, पुलिस अधीक्षक बागेश्वर श्री हिमांशु वर्मा,व पुलिस अधीक्षक पिथौरागढ श्री लोकेश्वर सिंह (वी0सी0) के माध्यम से मौजूद रहे।


बैठक में वर्ष 2022 में कुमायूँ परिक्षेत्र में कानून /शान्ति व्यवस्था , जनहित में, जागरुकता में , राहत बचाव, आदि क्षेत्रों अच्छा कार्य करने वाले कुल 83 पुलिस अधिकारियों/ कर्मचारियों को प्रसंशा पत्र तथा प्रतीक चिन्ह दिया गया । जिनमें निरीक्षक -03, उपनिरीक्षक-23, हे0का0- 8, का0-35, फआयरमैन-01, अनुचर-05, होमगार्ड- 01, गोताखोर- 1, उपनल कर्मी- 01 के अलावा जनता को लोग जो पुलिस का सहयोग करते है विशेष पुलिस अधिकारी -15, डिजिटल वालियन्टर्य-15, ड्रग्स वालियन्टर्स-10, ट्रैफिक वालियन्टर्स- 23 तथा आपदा मित्र -09 कुल 74 को नियुक्त कर आईकार्ड प्रसंशा पत्र वितरित किये गये ।
इस दौरान बैठक में कुमायूँ परिक्षेत्र के थानों का मूल्यांकन कर उनके कार्यों के आधार पर मैदानी क्षेत्र 25 थानों में से प्रथम पांच थाने

यह भी पढ़ें 👉  (बड़ी खबर)उत्तराखंड में बड़ा सड़क हादसा.कार खाई में गिरी,6 लोगों की मौत।।

आईटीआई , जसपुर, केलाखेडा, किच्छा व कुण्डा रहे तथा अन्तिम पांच ट्राजिंट कैम्प, काठगोदाम, बाजपुर, रामनगर व मुखानी रहे । वही पर्वतीय क्षेत्र के 46 थानों में रैकिंग के आधार पर प्रथम पांच थाने पिथौरागढ, लमगडा, दन्या, रीठा, व महिला थाना तथा अन्तिम पांच पंचेश्वर, लोहाघाट,गंगोलीहाट, तामली व भवाली रहे । साथ ही प्रथम 05 थानों को प्रसस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया अन्तिम थानों को निर्देशित किया गया कि वे अपने कार्य क्षेत्र को बेहतर स्वरूप प्रदान करें । इस दौरान समस्त अधिकारियों को संगीन अपराधों की रोकथाम हेतु कड़े कदम उठाने.अनावश्यक रूप से विवेचना लंबित ना रखने.महिला अपराधों को गंभीरता से लेते हुए पर अंकुश लगाकर जनजागृति के आधार पर महिलाओं को जागृत करने.महिलाओं से संबंधित मामलों में तुरन्त उच्च अधिकारी को सूचित करते हुए तत्काल f.i.r. पंजीकरण कर डायल 112 की समीक्षा कर डायल 112 की गाड़ियों का सही से प्रयोग करने के भी निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर(देहरादून) बने 35 समाज कल्याण अधिकारी, सीएम धामी ने बांटे नियुक्ति पत्र ,खिले चेहरे।।


बैठक में संपत्ति जब्तीकरण के अंतर्गत अधिक से अधिक कार्रवाई करने. एनडीपीएस एक्ट गुंडा एक्ट के अंतर्गत अधिक से अधिक कार्रवाई करने के भी निर्देश।
बैठक के दौरान 13-ANTF को जैकेट देने. डॉग स्क्वाड को उसके साथ भेजने तथा नशा करने वालों को पकड़कर उनकी प्रोफाइल कर रजिस्टर में उनके नाम अंकित कर नशे पर हर हाल में अंकुश लगाया जाए भी गंभीरता से लेने की बात कही गई है साथ ही माल का निस्तारण अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है माल निस्तारण हेतु अभियान चलाकर निस्तारण किया जाए. सोशल मीडिया पर सांप्रदायिक एवं फेक न्यूज़ गलत पोस्ट वीडियो करने वालों पर काउंसलिंग करा ली यदि उसके बाद भी नहीं मानता है तो उन पर कठोर दंडात्मक कार्रवाई करें
व बाहरी व्यक्तियों का सत्यापन शत-प्रतिशत करवाने. गंभीर अपराधों जैसे लूट हत्या, डकैती के wanted को जल्द से जल्द पकड़ने. बीट व्यवस्था को मजबूत करने हेतु समस्त को स्थाई सिम कार्ड वितरण करने के भी निर्देश दिए। देर तक चली इस बैठक में पब्लिक और ओरिएंटेड पुलिस पर अधिक ध्यान देने. यातायात व्यवस्था को सुचारू रखने हेतु शॉर्ट टर्म स्थाई सॉल्यूशन पर ध्यान देने हेतु निर्देशित किया गया तथा सत्यापन की कार्यवाही हेतु सिंगल विंडो सिस्टम में हेड कांस्टेबल को प्रभारी बनाते हुए एक सेल का गठन कर साइबर अपराधों पर रोकथाम हेतु पोर्टल पर प्राप्त होने वाले प्रार्थना पत्र का तुरंत निस्तारण करने की भी बात कही गई है।

To Top