उत्तर प्रदेश

बिग ब्रेकिंग(रामनगर)नहीं बचा सका कार्बेट प्रशासन बाघ को.आज ली बाघ ने अंतिम सांस.कई दिनों से चल रहा था इलाज ।।

रामनगर -:जिम कार्बेट नेशनल पार्क में एक बाघ के बच्चे की मौत की खबर आ रही है घायल बाघ का रेस्क्यू करने के बाद बीते कई दिनों से उसका सीटीआर प्रशासन इलाज करा रहा था जहां आज गुरुवार को उसने दम तोड़ दिया ।कार्बेट प्रशासन के अनुसार उक्त बाघ घायल गंभीर अवस्था में मिला था लेकिन बाघ को बचाया नहीं जा सका।

यह भी पढ़ें 👉  (बड़ी खबर)उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने इन परीक्षाओं की तिथियां की घोषित ।।


बताया जाता है कि कार्बेट टाइगर रिजर्व के झिरना रेंज तथा तराई पश्चिमी वन प्रभाग रामनगर के फाॅटो रेंज के अंतर्गत गस्त एवं सफारी के दौरान एक घायल अवस्था में माल कुंड वाटर हाल के पास बाघ को देखा गया जिसके बाद कार्बेट टाइगर रिजर्व द्वारा बाघ को रेस्क्यू अभियान चलाकर 23 अप्रैल को झिरना रेंज अंतर्गत फाॅटो पश्चिम कक्ष संख्या 49 में उक्त बाघ का रेस्क्यू कर ढेला स्थित रेस्क्यू सेंटर में लाया गया जहां पशु चिकित्सकों के द्वारा जांच पड़ताल के बाद उसकी उम्र 5 वर्ष पाई गई पशु चिकित्सक के अनुसार उक्त बाघ के सिर गर्दन अगले पिछले पैरों में विभिन्न गंभीर चोट पाई गई जिसके चलते उसके कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था गंभीर रूप से घायल बाघ ने गुरुवार की सुबह दम तोड़ दिया जिसे एनटीसीए की मानक प्रक्रिया के बाद बाघ के बच्चे का शव विच्छेदन कर उसे आग में जलाकर नष्ट कर दिया गया। बाघ किस तरह से घायल हुआ कार्बेट प्रशासन इसकी जांच पड़ताल में जुटा हुआ है।

To Top