अल्मोड़ा

(उत्तराखंड) जलाभिषेक के लिए जल लेते समय हुआ हादसा.बालिका को बचाने के दौरान युवती भी नदी में बही मौत

उत्तराखंड में नदी में स्नान के दौरान हादसे थमने का नाम नहीं ले रहे हैं ताजा मामला पौड़ी गढ़वाल के सतपुली क्षेत्र का है जहां-हरेला त्यौहार के दिन शिव मंदिर में जल चढ़ाने गई एक युवती और एक बालिका के नदी में बह जाने से मौत हो गई बताया जा रहा है कि जल चढ़ाने से पहले दोनों नदी में नहाने के बाद जल लेने गई थी इस दौरान बालिका का पांव फिसला जिसे बचाने के दौरान युवती भी नदी में बह गई।

यह भी पढ़ें 👉  (बड़ी खबर)जेईई एडवांस्ड परिणाम को लेकर आई बड़ी अपडेट. क्लिक कर जाने।।

मीडिया में आ रही खबरों के अनुसार सोमवार को सतपुली थाना में सूचना मिली की एक युवती और एक बालिका दंग्लेश्वर महादेव मंदिर में जल चढाने गयी थी| जल चढ़ाने से पूर्व नयार नदी में नहाते के बाद जल लेते समय उनका पैर फिसलने से वे दोनों नदी में बह गयी है| सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने तत्काल कार्यवाही करते हुए दंग्लेश्वर महादेव मंदिर से लगभग डेढ किमी0 सतपुली पौड़ी मुख्य हाईवे पुल के पास से दोनों का शव पुलिस, राजस्व टीम व स्थानीय व्यक्तियों की मदद से रेस्क्यू किया गया।
जानकारी के मुताबिक ग्राम ओडलसैण निवासी सरोज (24) पुत्री श्याम सिंह रावत व ग्राम चैलूसैण निवासी सोनी (15) पुत्री निर्मल सिंह परिजनों के साथ दंगलेश्वर मंदिर में जलाभिषेक के लिए गई थीं।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर(देहरादून) मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने स्कूली शिक्षा, कौशल तथा तकनीकी शिक्षा विभाग को दी 24 घण्टे की डेडलाइन ।।

सूचना के बाद सतपुली पुलिस मौके पर पहुंची। गोताखोरों ने नदी में दोनों लड़कियों की तलाश शुरू की। करीब ढाई तीन घंटे की मशक्कत के बाद दोनों के शव घटनास्थल से लगभग डेढ़ किलोमीटर दूर बरामद हुए। बताया जा रहा है कि सोनी इन दिनों अपने नाना के घर आई हुई थी। वह सतपुली के विद्या मंदिर में दसवीं की छात्रा थी। हादसे के बाद परिवार और गांव में कोहराम मच गया।

To Top