उत्तराखण्ड

(स्च्छता अभियान) इन धामों में भी हुआ वृहद स्वच्छता कार्यक्रम।।

श्री बद्रीनाथ धाम, चमोली, श्री केदारनाथ धाम , रूद्रप्रयाग व सूर्य मंदिर कटारमल, अल्मोड़ा में चलाया गया वृहद स्वच्छता अभियान

सहस्त्रधारा में वृहद् स्वच्छता अभियान चलाया गया

स्वच्छता ही सेवा-2023 के अन्तर्गत आज ट्रेवल फॉर लाइफ के अन्तर्गत भारत सरकार के पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग द्वारा देश के 100 सेंट्रली प्रोटेक्टेड मोनुमेंट्स एंड साइट्स और 55 संग्रहालयों में ‘‘स्वच्छता ही सेवा-2023 के अन्तर्गत ’’कचरा मुक्त भारत’’ की थीम के अनुसार वृहद स्वच्छता कार्यक्रमों व विभिन्न गतिविधियों को संचालित किये जाने हेतु देश के 100 सेंट्रली प्रोटेक्टेड मोनुमेंट्स एंड साइट्स में उत्तराखण्ड राज्य से बद्रीनाथ मन्दिर जिला चमोली, केदारनाथ मन्दिर, जिला रूद्रप्रयाग एवं कटारमल सूर्य मन्दिर, जिला अल्मोड़ा को सम्मिलित किया गया है।
श्री बद्रीनाथ धाम में नगर पंचायत बद्रीनाथ कार्यालय से मंदिर परिसर तक कूड़ा एकत्रित करते हुए स्वच्छता रैली निकाली गयी और श्री बद्रीनाथ मंदिर परिसर व नगर क्षेत्र में वृहद स्वच्छता सफाई अभियान चलाया गया। श्री बद्रीनाथ मंदिर परिसर में स्वच्छता ही सेवा के अन्तर्गत 01 स्वच्छता गोष्टी का आयोजन भी किया गया। जिसमें पवित्र तीर्थ स्थलों में सिंगल यूज प्लास्टिक की रोकथाम विषय पर चर्चा की गयी। कार्यक्रम में उपस्थित प्रतिभागियों एवं पर्यटकों को कपडे के थेलों का वितरण भी किया गया। जिसके पश्चात समस्त उपस्थित प्रतिभागियों एवं पर्यटकों को स्वच्छता शपथ दिलायी गयी। प्रतिभाग कर रहे 50 पर्यावरण मित्रों द्वारा लगभग 10 किलो ग्राम प्लास्टिक कूड़ा एकत्रित किया गया। कार्यक्रम में नगर पंचायत श्री बद्रीनाथ धाम, पर्यटन विभाग, चमोली व स्वजल चमोली के अधिकारियों/कार्मिकों, बद्रीनाथ मंदिर समिति के पदाधिकारियों/निवासियों एवं बड़ी संख्या में उपस्थित पर्यटकों द्वारा प्रतिभाग किया गया। कार्यक्रम में लगभग 250 प्रतिभागियों द्वारा प्रतिभाग किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  (बड़ी खबर)विश्व रक्तदान दिवस पर सेंचुरी आयोजित करा रहा है रक्तदान शिविर. अधिक से अधिक लोग करें रक्तदान।।

श्री सूर्य मंदिर, कटारमल, जिला-अल्मोड़ा में स्वच्छता ही सेवा-2023 को विश्व पर्यटन दिवस के उपलक्ष्य में कटारमल सूर्य मंदिर अल्मोड़ा में वृहत स्वच्छता अभियान आयोजित किया गया। जिसके अन्तर्गत स्वच्छता रैली का आयोजन किया गया। जिसमें प्राथमिक विद्यालय कटारमल, जूनियर हाईस्कूल, कटारमल के विद्यार्थियों, स्वयं सहायता समूह के सदस्यों, ग्रामवासियों, विभिन्न विभाग के अधिकारियों/कर्मचारियों द्वारा प्रतिभाग किया गया। कटारमल के मुख्य द्वार से सूर्यमंदिर तक स्वच्छता रैली संचालित की गयी, जिसमें प्रतिभागियों द्वारा स्वच्छता संदेश एवं नारों के माध्यम से क्षेत्रान्तर्गत जन-जागरूकता की गयी। स्वच्छता कार्यक्रम के अन्तर्गत कटारमल सूर्य मंदिर परिसर में समस्त उपस्थित प्रतिभागियों को श्री पुश्पेन्द्र सिंह, परियोजना निदेषक/परियोजना प्रबन्धक, स्वजल अल्मोड़ा तथा जिला पर्यटन अधिकारी, अल्मोडा द्वारा स्वच्छता शपथ दिलायी गयी। तदोपरान्त कटारमल सूर्य मंदिर परिसर के आस-पास स्वच्छता अभियान चलाया गया। जिसमें विभिन्न विभागों के अधिकारियों/कर्मचारियों के अतिरिक्त स्वयं सहायता समूह के सदस्यों एवं उपस्थित ग्रामवासियों द्वारा मंदिर परिसर एवं कटारमल क्षेत्र के आस-पास के क्षेत्र में प्लास्टिक कचरे को एकत्र कर जिला पंचायत एवं विकासखण्ड स्तर पर संचालित कूड़ा वाहनों से उपचार हेतु भेजा गया।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर(उत्तरकाशी)बस हादसा अपडेट. रेस्क्यू अभियान पूरा. दो गंभीर अस्पताल में भर्ती,देखें वीडियो।

देहरादून में ’’स्वच्छता ही सेवा-2023’’ के अन्तर्गत कचरा मुक्त भारत एवं समग्र स्वच्छता की अवधारणा को प्राप्त किये जाने के मकसद से दिनांक 27 सितम्बर, 2023 को विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर स्वच्छता ही सेवा पखवाड़े के अन्तर्गत श्री कर्मेन्द्र सिंह, आई0ए0एस0 निदेशक स्वजल/मिशन, निदेशक स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) की अध्यक्षता तथा पद्म श्री एवं पद्म भूषण डा0 अनिल प्रकाश जोशी कि गरिमामयी उपस्थिति में जनपद देहरादून के प्रसिद्ध पर्यटन स्थल सहस्त्रधारा में वृहद् स्वच्छता अभियान चलाया गया। स्वजल देहरादून, वेस्ट वारियर संस्था तथा नमामि गंगे उत्तराखण्ड, के सहयोग से संचालित अभियान के अन्तर्गत स्थानीय बाजार, नदी तटों/स्नानघाटों की स्वच्छता की गयी। कार्यक्रम में स्वच्छता हस्ताक्षर अभियान भी चलाया गया। जिसमे लगभग 150 नागरिकों, स्कूली छात्र-छात्रओं, वेस्टवारियर टीम, विभागगीय अधिकरियों/कार्मिकों तथा उपस्थित पर्यटकों द्वारा भाग लिया गया।

To Top