उत्तर प्रदेश

बिग ब्रेकिंग-:उत्तराखंड के यह तीन रेलवे स्टेशन आजकल है सुर्खियों में. पूर्वोत्तर रेलवे इज्जतनगर डिविजन लेता है पल-पल की जानकारी.

उत्तराखंड के तीन रेलवे स्टेशन आजकल सुर्खियों में नजर आ रहे हैं यह तीन रेलवे स्टेशन पूर्व उत्तर रेलवे को ऑक्सीजन देने का काम कर रहे हैं वाणिज्य आय के स्रोत का सबसे बड़ा क्षेत्र होने के चलते पूर्वोत्तर रेलवे भी यहां पर अनेक सुविधाओं को बढ़ावा देकर व्यापारियों को रेल के माध्यम से अपने माल को गंतव्य तक पहुंचाने में जुटा हुआ है। ऑटोमोबाइल क्षेत्र की बात की जाए तो हल्दी रेलवे स्टेशन पर ऑटोमोबाइल्स वाहनों की लोर्डिंग सबसे अधिक होती है. वही कंटेनरो की लोडिंग सिडकुल हाल्ट पर की जाती है जबकि रुद्रपुर में भी लोडिंग व्यापारी अपनी सुविधाओं के अनुसार करते हैं पूर्वोत्तर रेलवे के लिए उत्तराखंड के यह तीन स्टेशन माल भाड़ा में सबसे अधिक राजस्व आय का स्रोत बन चुके हैं।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर(हल्द्वानी) तेरह चौराहों का होगा चौड़ीकरण. जिलाधिकारी ने ली बैठक ।।


रेलवे बोर्ड के निर्देशानुसार वर्ष 2024 तक माल लदान दोगुना करने के उद्देश्य की पूर्ति में इज्जतनगर मंडल भी अपना महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।
इसके निमित्त “ईज ऑफ डूइंग बिजनेस विद द रेलवेज” के अंतर्गत मंडल पर 09 बिजनेस डेवलपमेंट यूनिटों का गठन किया गया है, जोकि मार्केट सर्वे/डाटा कलेक्शन के अतिरिक्त विशेष विपणन प्रयासों से गहन मार्केटिंग करते हुए रेलवे की माल लदान नीतियों का व्यापारियों के द्वार तक पहुंचाकर व्यापारियों की माल लदान के क्षेत्र में सहायता कर रही है। इन प्रयासों को और सुदृढ़ करने के लिए पंजीकृत व्यापारियों के लाभार्थ ऑटोमोबाइल, नए माल लदान एवं पार्सल को उनके बीच प्रचारित करने के लिए वेबनार का आयोजन किया गया। इसके अतिरिक्त गुड्स साइडिंगो पर भी सुविधाओं का विस्तार किया गया।
व्यापारियों से नियमित संपर्क बनाए रखने के लिए 24×7 सक्रिय टि्वटर हैंडल@रेल फ्रेट.आई.जेड. एन.की शुरुआत की गई । आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति देश के विभिन्न गंतव्यों को करने के लिए प्रतिबद्ध इज्जतनगर मंडल को विभिन्न वस्तुओं का माल लदान रेल परिवहन सुविधा की ओर आकर्षित करने में भारी सफलता मिली है।
वर्ष 2022 -2023 की तीसरी तिमाही के अंत तक इज्जतनगर मंडल ने 766.5 रेकों में 1.284 मिलियन टन का माल लदान कर देश के विभिन्न गंतव्यों को भेजा, विगत वर्ष इसी अवधि में मंडल द्वारा 657.5 रेकों में 1.026 मिलियन टन माल लदान किया था। माल लदान से प्राप्त आय वर्ष 2022 -23 की तीसरी तिमाही के अंत तक रुपये 193.51 करोड़ हुई, जोकि विगत वर्ष की तीसरी तिमाही के अंत तक अर्जित रुपए 125.93 करोड़ की तुलना में 53.66 प्रतिशत अधिक है। मंडल के माल लदान के क्षेत्र में 171 रेक खाद्यान्न, 334 रेक कंटेनर, 149.5 रेक ऑटोमोबाइल, 38 रेक चीनी, 04 रेक आलू प्रमुख है।

To Top