Connect with us
Advertisement

उत्तराखण्ड

ब्रेकिंग (देहरादून)ऊर्जा विभाग में तत्काल प्रभाव से हड़ताल पर लगा प्रतिबंध ।

Ad

देहरादून


उत्तराखंड से आज की सबसे बड़ी खबर बिजली विभाग में हड़ताल पर सरकार ने लगा दिया प्रतिबंध चूंकि राज्य सरकार का यह समाधान हो गया है कि लोकहित में ऐसा करना आवश्यक और समीचीन है,

अतएव, अब उत्तर प्रदेश अत्यावश्यक सेवाओं का अनुरक्षण अधिनियम, 1966 (उत्तराखण्ड राज्य में यथा प्रवृत्त) (उत्तर प्रदेश अधिनियम संख्या 30 सन् 1966) की धारा 3 की उपधारा (1) के अधीन शक्ति का प्रयोग करके राज्यपाल महोदय इस आदेश के निर्गत होने के दिनांक से छः मास की अवधि के लिए यूजेवीएन लिमिटेड, उत्तराखण्ड पावर कारपोरेशन लि० एवं पावर ट्रांसमिशन कारपोरेशन ऑफ उत्तराखण्ड लि० में समस्त श्रेणी की सेवाओं में तत्कालिक प्रभाव से हड़ताल निषिद्ध करते हैं।

उक्त अधिनियम की धारा-3 की उपधारा (2) के अधीन यह भी आदेश देते हैं कि यह आदेश गजट में प्रकाशित किया जायेगा

यह भी पढ़ें 👉  बिग ब्रेकिंग-:अब चारधाम के पुराने मार्गो को ढूंढेगा यह युवा दल, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना,12 सौ किलोमीटर तक का सफर करेगा तय।।

नैनीताल

जनपद के सभी विद्युत सब स्टेशन (बिजली घर) सही से संचालित हों और सब स्टेशनों को किसी भी प्रकार की क्षति न हो। यह निर्देश जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल ने विद्युत कार्मिकों की हड़ताल के दौरान वैकल्पिक व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में वीसी के माध्यम से समीक्षा करते हुए मुख्य अभियंता विद्युत, राजस्व तथा पुलिस विभाग के अधिकारियों को दिये।
श्री गर्ब्याल ने मुख्य अभियंता विद्युत को निर्देशित करते हुए कहा कि बिजली घरों को सफलतापूर्वक संचालित करने हेतु आवश्यक सबस्टेशन ऑपरेटरों, सुरक्षा हेतु आवश्यक पुलिस की मांग तुरन्त करने के निर्देश दिये। उन्होंने मांग के अनुसार आईटीआई तथा उपनल के माध्यम से कुशल सबस्टेशन ऑपरेटरों की तैनाती हेतु सभी आवश्यक कार्यवाही पूरी करने के निर्देश उप जिलाधिकारी हल्द्वानी को दिये। उन्होंने सब स्टेशनों की सुरक्षा हेतु मांग अनुसार सब स्टेशनों पर तुरन्त पुलिस मुहैया कराने के निर्देश एसपी सिटी हल्द्वानी को दिये।
श्री गर्ब्याल ने जल संस्थान के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि आपातकालीन स्थिति में ट्यूबवेल तथा फिल्टरेशन प्लांटों को सफतापूर्वक संचालित करने के लिए वैकल्पिक विद्युत व्यवस्था के रूप में 20 से 25 विद्युत जनरेटरों की व्यवस्था तत्काल करना सुनिश्चित करें। उन्होंने अधीक्षण अभियंता जल संस्थान को पानी के 60 टेंकरों की व्यवस्था करने के निर्देश देते हुए कहा कि आवश्यकतानुसार विभिन्न क्षेत्रों में टेंकरों से पानी की आपूर्ति की जाये तथा पेयजल आपूर्ति हेतु टेंकरों के चक्कर भी बढ़ाये जायें। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि पेयजल आपूर्ति को सुचारू रखा जाये तथा धन की आवश्यकता होने पर तुरन्त धनराशि की मांग की जाये। उन्होंने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को पेयजल आपूर्ति बढ़ाने के निर्देश दिये। उन्होंने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को जल संस्थान के अधिकारियों के साथ समन्वय बनाये रखने के निर्देश दिये। उन्होंने किसी भी प्रकार की घटना के घटित होने पर त्वरित कार्यवाही हेतु तुरन्त सूचना जिला कार्यालय में उपलब्ध कराने के निर्देश विद्युत तथा जल संस्थान के अधिकारियों को दिये।
जिलाधिकारी श्री गर्ब्याल ने जनता से अपील करते हुए कहा कि विद्युत व्यवस्था बाधित होने की दशा में पेयजल आपूर्ति भी बाधित होने की संभावना है। लिहाज़ा पर्याप्त मात्रा में जल संग्रहण कर के रखें। उन्होंने जनता से पानी की बरबादी को रोकने एवं मित्तव्ययता बरतने की अपील की।

यह भी पढ़ें 👉  ब्रेकिंग-:चारधाम यात्रा है सुचारू, केदारनाथ धाम मे हुई बर्फबारी,हेली सेवा हुई प्रभावित, बर्फ हटाने का काम जारी है ।।

Ad
Ad
Continue Reading

पोर्टल का मुख्य उद्देश्य उत्तराखंड तथा देश-विदेश की ताज़ा ख़बरों व महत्वपूर्ण समाचारों से आमजन को रूबरू कराना है। अपने विचार या ख़बरों को प्रसारित करने हेतु हमसे संपर्क करें। Email: [email protected] | Phone: +91 94120 37391

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Like Our Facebook Page

Advertisement

Ad