उत्तर प्रदेश

मौसम अपडेट(उत्तराखंड) खराब मौसम के चलते केदारनाथ यात्रा का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन पर रोक.तत्कालिक मौसम पूर्वानुमान जारी. ऑरेंज अलर्ट की चेतावनी।।

देहरादून-: पहाड़ों में लगातार हो रही बरसात के बीच मौसम विभाग में सुबह 6:00 बजे से सुबह 9:00 बजे तक तत्कालिक मौसम पूर्वानुमान में कुछ राहत भरी बात कही है मौसम विभाग ने गुरुवार को जारी तत्कालिक मौसम पूर्वानुमान ने कहा है कि राज्य के गढ़वाल क्षेत्र में कहीं-कहीं गर्जन वाले बादल विकसित होने तथा बहुत हल्की से हल्की वर्षा होने की संभावना है इस इस बीच डूंडा में 316. नगहट में 132 .नैनबाग में 123. मसूरी में 99. कोटी में 94 पुरोल में 81,5 बड़कोट में 52. 5 सहस्त्रधारा में 48 कालसी में 40 गोचर में 38 तथा करणप्रयाग 36 मोरी में 35 तथा यूकोस्ट में 32.5 मिलीमीटर बरसात रिकॉर्ड की है।

यह भी पढ़ें 👉  अभी-अभी(उत्तराखंड) डोडी ताल ट्रैक पर दो ट्रैकर के फंसने की सूचना, एसडीआरएफ,मेडिकल सहित रेस्क्यू टीम मौके पर हुई रवाना, ट्रैकर लोक निर्माण विभाग में सहायक अभियंता।।

उत्तरकाशी
उधर उत्तराखंड में मौसम का मिजाज बीते दो दिन से बिगड़ा हुआ है। लगातार हो रही मूसलाधार बारिश से जहां जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। वहीं मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। बुधवार सुबह से ही देहरादून सहित कई जिलों में झोंकेदार हवा के साथ बारिश हो रही हैं। विभाग ने कई जिलों में 2 जून तक ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।
मौसम विभाग के मुताबिक दो जून तक प्रदेश में तेज हवा के साथ बारिश और ओलावृष्टि की संभावना जताई है। हवा की रफ्तार 70 से 80 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है।
बताया जा रहा है कि रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी, देहरादून, चमोली, बागेश्वर, नैनीताल और पिथौरागढ़ में भारी बारिश, बिजली चमकने और ओलावृष्टि की संभावना है। वहीं ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हल्की बर्फबारी की संभावना मौसम विभाग ने जताई है।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर(देहरादून)अवैध खनन पर और बड़ी सख्ती. मुख्य सचिव ने एक एक और प्रस्ताव पर दी सहमति।।

वहीं देहरादून और मसूरी में हुई बारिश और ओलावृष्टि से तापमान में गिरावट आई है। मंगलवार को हुई बारिश ओलावृष्टि से फसलों को भारी नुकसान हुआ है। जहां विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी करते हुए लोगों से सावधान रहने की अपील की है। विभाग ने कहा है कि आगामी दिनों में मौसम बिगड़ने से ओलावृष्टि और बारिश के साथ ही बिजली गिरने की घटनाएं हो सकती हैं। ऐसे में भेड़ पालकों के साथ सभी को सतर्क रहने की जरूरत है।
वहीं पुलिस ने लोगों से अपील की है।वह अपनी यात्रा को कुछ देर रूक – रूक कर करें । सुरक्षित एवं पक्के मकानों में शरण लें , पेड़ के नीचे शरण ना लें । एडवेंचर एक्टिविटी करने से बचें और किसी भी प्रकार का जोखिम न उठायें । मौसम पूर्वानुमान चेक करते रहें । आज में भारी बरसात और भूस्खलन के चलते 15 जून तक केदारनाथ यात्रा के रजिस्ट्रेशन पर रोक लगा दी गई है तथा जो यात्रा हो रही है उन्हें बड़े सुरक्षित ढंग से संचालित किया जा रहा है।

To Top