उत्तराखण्ड

बड़ी खबर-: चाची से नाराज तो चल दिये झारखंड. मम्मी पापा से नाराज तो चल दिए हरिद्वार. मदरसे में मन नहीं लगा तो पकड़ी ट्रेन.RPF के नन्हे फरिश्ते अभियान ने दी परिजनों को खुशी।।

काशीपुर-:अपनी चाची से नाराज होकर घर से निकले दो बच्चों को रेलवे सुरक्षा की टीम ने अपने संरक्षण में लेकर उन्हें रेलवे चाइल्ड लाइन को सुपुर्द कर दिया रेलवे सुरक्षा बल की पैनी नजर नहीं होती तो यह दोनों बच्चे अपने परिवार से बिछुड भी सकते थे।
नन्हे फ़रिश्ते“ अभियान के अंतर्गत रेलवे सुरक्षा बल,पोस्ट- मुरादाबाद द्वारा चलाए जा रहे अभियान के तहत स्टेशन गस्त के दौरान स्टेशन पर बरेली दिशा के तरफ बने फुटओवर ब्रिज के पास दो बच्चों को लावारिस हालत में बेंच पर बैठे हुए पाए I जिन पर शक होने पर उनके पास पहुंचकर पूछताछ करने पर दोनों ने अपना- अपना नाम क्रमश मुस्ताक पुत्र मोहम्मद खुर्शीद उम्र 8 साल निवासी गांव गौरीचक थाना मेहरमा जिला गुड्डा झारखंड तथा दूसरे बच्चे ने मोहम्मद आरिफ पुत्र मोहम्मद खुर्शीद उम्र 12 साल निवासी गांव गौरीचक थाना मेहरमा जिला गुड्डा झारखंड बताया I दोनों बच्चों ने बताया, कि हम दोनों सगे भाई हैं तथा काशीपुर में अपनी चाची से नाराज होकर उन्हें बिना बताए अपनी दादी के घर जाने के लिए किसी सवारी गाड़ी से मुरादाबाद स्टेशन आ गए हैं तथा अपने गांव पता उपरोक्त पते पर जाना चाहते हैं I दोनों बच्चों से उनके परिजनों का सही पता वह मोबाइल नंबर के बारे में पूछने पर कुछ भी नहीं बता पाए I बच्चों की कम उम्र व उनकी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए इनको नाश्ता इत्यादि करा कर बच्चों की सूचना रेलवे चाइल्ड लाइन मुरादाबाद को दी गई I श्री विनीत चौधरी सुपरवाइजर रेलवे चाइल्डलाइन के आने के पश्चात दोनों बच्चों की काउंसलिंग की गई तथा दोनों बच्चों का चिकित्सा परीक्षण जिला चिकित्सालय मुरादाबाद से कराकर सही सलामत रेलवे चाइल्ड लाइन के सुपरवाइजर श्री विनीत चौधरी व श्री गौरव कुमार के सुपुर्द किया गया I

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर (हल्द्वानी) प्राकृतिक संरक्षण पर लगी प्रदर्शनी.देखने पहुंचे सैकड़ो लोग।।

इसके अलावा रेलवे सुरक्षा बल,पोस्ट- मुरादाबाद द्वारा स्टेशन गस्त के दौरान प्लेटफार्म नंबर 4-5 पर एक बच्चे को लावारिस हालत में बेंच पर बैठे हुए पाया I जिस पर शक होने पर पूछताछ करने पर बच्चे ने अपना नाम माधव त्रिपाठी पुत्र राकेश त्रिपाठी उम्र 12 वर्ष निवासी गांव सेतियापुर थाना साढी जिला हरदोई उत्तर प्रदेश बताया I बच्चे ने बताया कि मैं अपने माता-पिता से नाराज होकर हरिद्वार जा रहा हूं , मुझे भूख व प्यास लगने के कारण रेलवे स्टेशन मुरादाबाद पर किसी गाड़ी से उतर गया था गाड़ी में भीड़ अधिक होने कारण गाड़ी में चढ़ नहीं सका I बच्चे से उसके माता पिता का मोबाइल नंबर के बारे में पूछने पर कोई कांटेक्ट नंबर नहीं दे पाया I बच्चे को नाश्ता कराने के उपरांत बच्चे की सूचना रेलवे चाइल्ड लाइन मुरादाबाद को दी गई I श्री विनीत चौधरी सुपरवाइजर रेलवे चाइल्डलाइन के आने के पश्चात उक्त बच्चे की काउंसलिंग की गई I बच्चे का चिकित्सा परीक्षण जिला चिकित्सालय मुरादाबाद से कराकर सही सलामत रेलवे चाईल्ड लाइन मुरादाबाद के सुपरवाइजर श्री विनीत चौधरी व श्री गौरव कुमार के सुपुर्द किया गया।
वही रेलवे सुरक्षा बल,पोस्ट- रामपुर पर रेलवे सुरक्षा बल द्वारा दिनांक 04.05.2024 को स्टेशन एरिया गस्त के दौरान समय करीब 22:30 बजे दो छोटे बच्चे उम्र करीब 10 वर्ष एवं 07 वर्ष प्लेटफार्म नंबर एक पर बेंच पर बैठे मिले I
दोनों बच्चों से पूछताछ किया तो एक ने अपना नाम अजमल तथा दूसरे ने अपना नाम गुलाम गौस बताया तथा बताया कि हम मदरसे में रहते हैं हमारा मन नहीं लगता है हम कलियर जा रहे हैं तथा बच्चों ने अपने पिताजी का मोबाइल नंबर भी बताया। दोनों बच्चों को आरपीएफ पोस्ट रामपुर पर लाया गया तथा बच्चों के बताए मोबाइल पर संपर्क किया तो बच्चों के पिताजी मोहम्मद रिजवान पुत्र श्री मोहम्मद हसन उम्र 40 वर्ष,निवासी वाजिदपुर थाना भोट जिला रामपुर बताया तथा दोनों उपरोक्त बच्चों को अपने बच्चे होना बताया I रात्रि समय करीब 23:00 बजे जावेद अजमल एवं गुलाम गौस के पिताजी मोहम्मद रिजवान रेलवे सुरक्षा बल,पोस्ट- रामपुर पर उपस्थित हुए जिनसे पूछताछ की तो बताएं कि जावेद अजमल एवं गुलाम गौस मेरे बेटे हैंI रात्रि समय करीब 23:30 बजे चाइल्ड हेल्पलाइन सुपरवाइजर महक अजमी ,सुपरवाइजर कविता सिंह सूचना पर पोस्ट पर उपस्थित हुई I उनके द्वारा बच्चों से पूछताछ करने व पहचान सुनिश्चित करने के उपरांत दोनों बच्चे जावेद अजमल और गुलाम गौस को चाइल्ड हेल्पलाइन रामपुर को अग्रिम कार्रवाई के बाद सुपुर्द किया गया।

To Top