उत्तर प्रदेश

(मौसम अपडेट) देहरादून-: 14 दिसंबर तक आई मौसम अपडेट. इस तरह से रहेगा राज्य का मौसम. मौसम विभाग ने जारी किया मौसम पूर्वानुमान।।

देहरादून-: उत्तराखंड में मौसम अभी 14 अगस्त को शुष्क रहने के संकेत है मौसम विभाग ने आगे 14 दिसंबर तक मौसम पूर्वानुमान में कहा है कि आने वाले 14 तारीख तक राज्य में मौसम शुष्क रहेगा जिसके चलते यहां ठंड और सताएगी मौसम विभाग का कहना है 10 दिसंबर और 11

दिसंबर को राज्य में तापमान 18 डिग्री सेल्सियस से आगे बढ़ सकता है इसके अलावा मैदानी जनपदों में कोहरा लगने से जनजीवन पर भी असर पड़ेगा तथा कड़ाके की ठंड इजाफा होगा। मौसम विभाग ने 10 दिसंबर से लेकर 14 दिसंबर तक राज्य में मौसम शुष्क रहने की संभावना व्यक्त की है साथ ही येलो अलर्ट जारी करते हुए कहा है कि तापमान में उच्च परिवर्तन होने के साथ सर्दी और फ्लू के प्रभाव की संभावना है जिसको देखते हुए लोगों से विशेष रूप से बच्चों और बुजुर्गों को सुबह. रात के समय उन्हीं गर्म कपड़े पहनने की सलाह दी है ताकि तापमान में दैनिक उतार-चढ़ाव से बचाव किया जा सके।
उधर मौसम विभाग के अनुसार उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में ठंड बढ़ गई है। लेकिन पहाड़ों पर बर्फबारी की चेतावनी के कारण सर्दी और बढ़ने वाली है। मौसम विज्ञान विभाग का कहना है कि जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में मौसम शुष्क और ठंडा है और अगले 24 घंटों के दौरान ऊंचे इलाकों में बर्फबारी और मैदानी इलाकों में बारिश होने के आसार हैं।

यह भी पढ़ें 👉  बिग ब्रेकिंग (उत्तराखंड) तीन तिलंगौं ने रच डाली 100 करोड़ की साजिश. मुस्लिम फंड प्रकरण में पुलिस की बड़ी कार्रवाई. मुख्य आरोपी सहित तीन गिरफ्तार. पुरानी करेंसी को बदलने को लेकर की थी डील.पढ़े लंबी खबर।।

केंद्रीय मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में अगले 24 घंटों के दौरान मैदानी इलाकों में हल्की बारिश और ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी होने की संभावना है।
बर्फबारी के बीच कश्मीर घाटी में तापमान में और गिरावट आई है। श्रीनगर में न्यूनतम तापमान 1 डिग्री सेल्सियसम, पहलगाम में 0.7 और गुलमर्ग में माइनस 3 डिग्री सेल्सियस रहा। लद्दाख क्षेत्र के द्रास में न्यूनतम तापमान माइनस 3.6, कारगिल में माइनस 5.6 और लेह में माइनस 4.8 रहा। जम्मू में 12.7, कटरा में 11, बटोटे में 4.4, बनिहाल में 4.8 और भद्रवाह में 4.5 न्यूनतम तापमान रहा।जहां पहाड़ी राज्यों में बर्फबारी का अलर्ट है, वहीं दूसरी ओर दक्षिण भारत में भी बारिश हो रही है। लेकिन बारिश की वजह चक्रवात है। साइक्लोन ‘मैंडूस’ के कहर से दक्षिण भारत के कई इलाकें प्रभावित होने की चेतावनी है।
चक्रवात के खतरनाक होने के साथ ही कई शहरों में स्कूल और कॉलेज बंद कर दिए गए हैं। चक्रवात के कहर के बीच कई राज्यों में आम जनजीवन प्रभावित हो गया है। तमिलनाडु सरकार ने कहा कि एनडीआरएफ और राज्य सुरक्षा बल की 12 टीमों को 10 जिलों में तैनात किया गया है।
ये तूफान आज चेन्नई तट से टकराया है। इससे तमिलनाडु के कई इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी दी गई है। मौसम विभाग का अनुमान है कि अगले 48 घंटों में यह तूफान खतरनाक रूप ले सकता है। इस कारण प्रभावित शहरों में स्कूल कॉलेज बंद रखे गए हैं।

Ad Ad Ad Ad
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top