उत्तर प्रदेश

(उत्तराखंड)गजब की ठगी-: फर्जी भर्ती सेंटर खोलकर बेरोजगारों को दे रहे थे फर्जी ज्वाइनिंग लेटर. पुलिस की बड़ी कार्रवाई.चार युवकों को किया गिरफ्तार लाखों की कर चुके थे ठगी।।

एक और “फर्जी भर्ती सेंटर” का हरिद्वार पुलिस ने किया भंडाफोड़

जैतपुर लक्सर में चलाए जा रहे भर्ती सेंटर के 04 सक्रिय सदस्य दबोचे

बेरोजगार युवाओं के साक्षात्कार के लिए लखनऊ के नामी होटल किए जाते थे बुक

फिल्मी अंदाज में चल रहा था फर्जी ज्वाइनिंग लेटर बांटने का गोरखधंधा

सरकारी नौकरी का लालच देकर बेरोजगारों से ऐंठते थे लाखों की रकम, थमाते थे फर्जी ज्वाइनिंग लेटर

झांसे में आकर कई बेरोजगारों की लाखों की रकम डूबने का है अंदेशा

60,000 की नगदी, मोबाइल फोन, कंप्यूटर, प्रिंटर, दर्जन से अधिक चेक बुक समेत कई फर्जी दस्तावेज बरामद

जिला जज कोर्ट समेत आयकर, स्वास्थ्य सहित कई अन्य विभागों के फर्जी नियुक्ति पत्र किए जाते थे जारी

DM हरिद्वार की फर्जी ईमेल ID तैयार कर, अभ्यर्थियों को ईमेल के माध्यम से भेजे जाते थे नियुक्ति पत्र

“बेरोजगार युवा फर्जी विज्ञप्ति से रहें सावधान, ठगी की संभावना होने पर तुरंत करें शिकायत”:: एसएसपी अजय सिंह

लक्सर

बेरोजगार युवाओं की भावनाओं से खेलकर लाखों का मुनाफा कमाने और फिर जिला कोर्ट, आयकर विभाग, स्वास्थ्य विभाग सहित कई अन्य विभागों के फर्जी नियुक्ति पत्र जारी कर रहे सिंडिकेट से पर्दा उठाते हुए हरिद्वार पुलिस ने गिरोह से जुड़े 04 शातिर अभियुक्तों को दबोचने में सफलता हासिल की है।

ऐसे होता था महाठगी का सारा खेल

सरकारी नौकरी की बांट जोह रहे बेरोजगार युवाओं को फांसने के लिए यह गिरोह अखबारों में विज्ञप्ति निकालता था। गिरोह का बकायदा एक चैनल (कम्युनिटी हेल्थ वर्कर एवं महिला कल्याण ट्रस्ट नई दिल्ली) बनाया गया था जिसका मुख्यालय नई दिल्ली में तथा उसकी शाखा लखनऊ से संचालित होती थी तथाकथित ट्रस्ट की एक शाखा कनखल जगजीतपुर में बनाई हुई थी जहां अभियुक्तों को विभिन्न पदों पर तैनात किया गया था।
बेरोजगार युवाओं के आवेदन मिलने पर उन्हें लखनऊ स्थित नामी होटल में इंटरव्यू और पेपर के लिए बुलाया जाता था और फिर जिला कोर्ट आदि विभागों के नाम से जारी फर्जी नियुक्ति पत्र देकर लाखों रुपए हड़प लिए जाते थे।
फर्जी नियुक्ति पत्र ले दर-दर भटकने के बाद युवाओं को ठगी का अह्सास होता था।

शिकायत पर हरिद्वार पुलिस का एक्शन

जनपद के विभिन्न थानों (रुड़की, लक्सर गंगनहर ज्वालापुर आदि) में मिली धोखाधड़ी की शिकायत मिलने पर संबंधित थाना कोतवाली में गंभीर धाराओं में मुकदमे दर्ज कर उक्त गिरोह की कुंडली तैयार करने के सम्बन्ध में निर्देश देते हुए एसएसपी श्री अजय सिंह द्वारा स्वयं पुलिस टीम गठित की गई थी एवं बारीकी से मॉनिटरिंग भी की जा रही थी।
जनपद में जगह-जगह चल रहे इस बड़े खेल पर फोकस करते हुए गठित पुलिस टीम ने लगातार एक्टिव रह कर सटीक सूचना के आधार पर कुल 04 अभियुक्तों को भारी मात्रा में इलैक्ट्रोनिक सामान कम्प्यूटर, सीपीयू, प्रिंटर, नकदी, घटना में इस्तेमाल किए जाने वाले कई मोबाइल फोन तथा अन्य दस्तावेज आदि के साथ दबोचा।
चिन्हित किए गए अन्य फरार अभियुक्तों की भी तलाश की जा रही है।

यह भी पढ़ें 👉  (बड़ी खबर)उत्तराखंड में 40 स्टार प्रचारक करेंगे प्रचार. कांग्रेस ने सूची की जारी ।।

ऐसे हुई अभियुक्तों की एक दूसरे से पहचान

यह तथ्य प्रकाश में आया कि अभियुक्त खुर्शीद आलम चिश्ती पुत्र स्व0 मकसूद हुसैन निवासी 438/4 गली नम्बर 01 बन्दा रोड कोतवाली रूडकी जनपद हरिद्वार द्वारा कनखल हरिद्वार में हरिराम आश्रम की बिल्डिंग में हिल्ट्रोन कम्प्यूटर सैन्टर के नाम से कम्प्यूटर सेंटर का संचालन किया जा रहा था जहां पर मुख्य अभियुक्त अब्दुल कादिर पुत्र शहीद हसन निवासी जैतपुर थाना कोतवाली लक्सर जिला हरिद्वार, सौरभ कुमार पुत्र रेशम सिहं निवासी लोधीवाला थाना झबरेडा जिला हरिद्वार व
दिनेश डोगरा पुत्र ब्रहमपाल सिंह निवासी-सुल्तानपुर लक्सर जिला हरिद्वार द्वारा कम्प्यूटर कोर्स किया जा रहा था।
जहां पर यह चारों एक दूसरे के संपर्क में आए।

अब्दुल कादिर द्वारा खुर्शीद आलम, सौरभ व दिनेश डोगरा एवं अपने अन्य साथी नरेन्द्र निवासी- तलहडी बुजुर्ग देवबंद उ0प्र0 की मुलाकात विजय श्रीवास्तव , हर्ष श्रीवास्तव (जिनका ऑफिस लखनउ उ0प्र0 में वेलंगटन चौराहे पर था) के साथ लखनउ में करायी।
विजय श्रीवास्तव व हर्ष श्रीवास्तव द्वारा उपरोक्त अभियुक्तों के साथ मिलकर कम्यूनिटी हेल्थ महिला कल्याण ट्रस्ट की आड में ऐसे युवक व युवतियों, जिन्हे सरकारी नौकरी की तलाश रहती है व जिसके लिए बेरोजगार युवक/युवतियां मोटे पैसे भी खर्च करने को तैयार रहते हैं, को नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी का खेल शुरू किया गया।
इसके लिए समाचार पत्रो में बकायदा नौकरी दिलाने के लिए विज्ञप्ति जारी की जाती थी।
खुर्शीद आलम के हिल्ट्रान कम्प्यूटर सेंटर में ही नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगार युवको/युवतियों के इन्टरव्यू लिये गये व उन्हे जिला प्रभारी, ब्लॉक प्रभारी, पंचायत मित्र, पंचायत शिक्षिका के पद पर लाखो रूपये लेकर नियुक्ति दी गयी व इसके अतिरिक्त उत्तराखण्ड एवं उत्तरप्रदेश में बेरोजगार युवको व युवतियों को जिला कलेक्ट्रेट, ड्रिस्ट्रिक कोर्ट, उपभोक्ता न्यायालय, इंनकम टैक्स विभाग, ओर्डनेंस फैक्टरी देहरादून में नौकरी दिलाने का झांसा देकर लाखो रूपये की ठगी की गयी व फर्जी नियुक्ति पत्र अभ्यर्थियों को थमाये गये।
जब अभ्यर्थियों द्वारा सम्बन्धित विभाग में जाकर नियुक्ति पत्र दिखाने पर भी नौकरी नहीं मिली और नियुक्ति पत्र फर्जी पाये गये व जब इसके सम्बन्ध में अभ्यर्थियों द्वारा गिरोह के सदस्यो से जानकारी की गयी तो उनके द्वारा “वैकेन्सी फुल” होने का कारण बताकर दूसरे विभाग का फर्जी नियुक्ति पत्र जारी किया जाता रहा व 01-01 अभ्यर्थी को कई-कई विभागो के फर्जी नियुक्ति पत्र जारी किये गये।
ठगी की जानकारी होने पर जब अभ्यर्थियों द्वारा गिरोह के सदस्यो पर हिल्ट्रान कम्प्यूटर सेंटर में जाकर दबाव बनाने पर गिरोह द्वारा तुरंत ही आफिस विकास कालोनी कनखल में किराये के कमरे पर शिफ्ट किया गया। लेकिन पुनः अभ्यर्थियों का दबाव बढ़ने पर उक्त आफिस बंद कर मुख्य अभियुक्त अब्दुल कादिर ने जैतपुर लक्सर स्थित अपने घर से गिरोह का संचालन शुरु कर दिया।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर (उत्तराखंड) उत्तराखंड में बहेंगी विकास की गंगा भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, और सीएम धामी ने किया जनता को संबोधित।।

सरकारी नौकरी के पोस्ट/पद के हिसाब से तय किये जाते थे रेट

पकडे गये अभियुक्तों द्वारा बेरोजगार युवओं को सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर प्रत्येक पद के रेट तय किये गये थे। चपरासी के पद के लिए 05 लाख रूपये व क्लर्क के लिए 08 लाख रूपये व कार्यालय सहायक के लिए 10 लाख रूपये तय की गयी थी रकम।

ट्रेनिंग के नाम पर कई युवको को ओर्डिनेंस फैक्टरी देहरादून के बाहर ड्यूटी पर किया गया था नियुक्त

सम्पर्क में आए कई युवकों को ओर्डनेस फैक्टरी में नौकरी का नियुक्ति पत्र जारी कर, कोई शक न रहे इसलिए बकायदा गिरोह के सदस्यों द्वारा ट्रेनर बनाकर कई दिनो तक ओडनेंस फेक्ट्ररी के बाहर ही ग्रुप डी की ट्रेनिंग भी करायी गई।

जनपद के विभिन्न थानों में दर्ज हैं मुकदमें

  1. मुकदमा अपराध संख्या 114 / 23 धारा 420 467 468 471 506 120 बी आईपीसी कोतवाली लक्सर

अमन कुमार पुत्र सुधीर कुमार निवासी शामली उत्तर प्रदेश द्वारा दिनांक 29.1.2023 को अभियुक्तों के विरुद्ध नौकरी का झांसा देकर पहले कंज्यूमर कोर्ट में, फिर मुजफ्फरनगर कोर्ट में और उसके बाद इनकम टैक्स विभाग गाजियाबाद में नौकरी लगाने के नाम पर ₹880000 की ठगी कर फर्जी नियुक्ति पत्र देने के सम्बन्ध में कोतवाली लक्सर में अभियोग पंजीकृत कराया गया।

2. मुकदमा अपराध संख्या 110 /23 धारा 420 467 468 471 आईपीसी कोतवाली लक्सर

शुभम कुमार पुत्र धर्मपाल निवासी भलस्वागज झबरेड़ा हरिद्वार द्वारा कोतवाली लक्सर में अभियोग पंजीकृत कराया गया कि अभियुक्तगण द्वारा उसकी कंज्यूमर कोर्ट हरिद्वार में नौकरी लगाने के नाम पर ढाई लाख रुपए की ठगी कर फर्जी नियुक्ति पत्र दिया गया।

3. मु0अ0स0 111/23 धारा 420, 354, 323, 504, 427 आईपीसी

श्रीमति निशा शर्मा पत्नी शिवकुमार निवासी निवासी विष्णु गार्डन कनखल जनपद हरिद्वार द्वारा अभियुक्तों के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत कराया जिसमें अभियुक्तों द्वारा वादी की बेटी तनु शर्मा परिचित आफताब पुत्र समीम मिर्जा निवासी चरथावल मुजफ्फरनगर को कंजूमर कोर्ट हरिद्वार, चरथावल, मुरादाबाद में नौकरी लगाने के नाम पर 900000 रुपए की धोखाधड़ी की तथा फर्जी नियुक्ति पत्र दिए गए।

यह भी पढ़ें 👉  (बड़ी खबर) अब दो पैसेंजर ट्रेन हुई अपग्रेड. चलेगी मेमौ ट्रेन बनकर. यात्रियों को होगा यह फायदा।।

4. मुकदमा अपराध संख्या 55/23 धारा 420 406 आईपीसी कोतवाली ज्वालापुर

कुमारी रोहिन पुत्री नसीम अहमद ज्वालापुर सराय के द्वारा अभियुक्तों के विरुद्ध सीएमओ ऑफिस हरिद्वार में नौकरी लगाने के नाम पर ₹200000 की धोखाधड़ी करने के सम्बन्ध में मुकदमा दर्ज कराया गया।

  1. मुकदमा अपराध संख्या 780/22 धारा 420 406 आईपीसी थाना भगवानपुर

सुरेंद्र प्रताप पुत्र रामगोपाल निवासी भगवानपुर ग्राम खेलपुर से अभियुक्तों द्वारा इनकम टैक्स कार्यालय गाजियाबाद में नौकरी लगाने के नाम पर 1000000 रुपए की धोखाधड़ी करने के सम्बन्ध में थाना भगवानपुर में मुकदमा दर्ज किया गया।

6. मुकदमा अपराध संख्या 76/23 धारा 420 467 468 471 120 बी आईपीसी थाना कोतवाली गंगनहर

शाहरुख पुत्र मेहरबान निवासी रामपुर चुंगी कोतवाली गंगनहर जनपद हरिद्वार द्वारा अभियुक्तों के विरुद्ध कंज्यूमर कोर्ट सहारनपुर में नौकरी लगाने के नाम पर ₹160000 की धोखाधड़ी करने के सम्बन्ध में मुकदमा दर्ज कराया गया।

7. मुकदमा अपराध संख्या 116/23 धारा 420 406 120B 34 आईपीसी थाना कोतवाली रुड़की

अभियुक्तों द्वारा राकेश कुमार पुत्र रघुवीर सिंह निवासी ढंडेरा कोतवाली रुड़की जनपद हरिद्वार से नगर निगम रुड़की तथा सिंचाई विभाग में नौकरी लगाने के नाम पर ₹285000 की धोखाधड़ी करने के सम्बन्ध में कोतवाली रुड़की में मुकदमा दर्ज किया गया।

8. मुकदमा अपराध संख्या 58/23 धारा 420, 467, 468, 471 आईपीसी कोतवाली ज्वालापुर

वादी मोहम्मद आमिर निवासी मोहल्ला घोसियान कोतवाली ज्वालापुर जनपद हरिद्वार द्वारा अभियुक्त अब्दुल कादिर पुत्र साजिद नि0 जैदपुर लक्सर द्वारा प्राइमरी स्कूल में नोकरी लगाने का झांसा देकर 120000/ रुपये , व लखनऊ में ट्रैनिंग के बहाने ले जाकर 40000/ रुपये तथा हाईकोर्ट में क्लर्क के पद पर नौकरी लगवाने के नाम पर कुल ₹ 160000 की धोखाधड़ी की गई

गिरफ्तार अभियुक्त

  1. कादिर पुत्र शहीद हसन निवासी जैतपुर लक्सर
  2. दिनेश डोगरा निवासी सुल्तानपुर लक्सर
  3. खुर्शीद आलम चिश्ती पुत्र मकसूद निवासी बंदा रोड रुड़की
  4. सौरभ पुत्र रेशम सिंह निवासी लोधीवाला थाना झबरेड़ा

वांछित अभियुक्त

1- विजय श्रीवास्तव निवासी लखनऊ

  1. हर्ष श्रीवास्तव निवासी लखनऊ
  2. रिजवान पुत्र शहीद हसन निवासी जैतपुर लक्सर
  3. सारिका बानो पत्नी अब्दुल कादिर निवासी जैतपुर लक्सर

बरामदगी-

1-फर्जी नियुक्ति प्रमाण पत्र
2-भारी मात्रा में अभ्यर्थियों की शैक्षिक अंकतालिकायें
3-एक दर्जन से अधिक चैक बुक, पास बुक
4-नकदी ₹60000/-
5-मोबाईल फोन-06
6-कम्प्यूटर
7-प्रिंटर आदि

पुलिस टीम

01- S.P.R.A. स्वप्न किशोर सिंह

  1. CO लक्सर विवेक कुमार
    03- SHO लक्सर अमरजीत सिंह
    04- SSI लक्सर अंकुर शर्मा
    05- SI मनोज नौटियाल (चौकी प्रभारी सुल्तानपुर)
    06- SI बबलू ps लक्सर
    07- Hc पंचम प्रकाश
  2. HC हमीद
To Top