उत्तर प्रदेश

(पौड़ी)खुशियां बदली मातम में बस खाई में गिरी, राहत एवं बचाव कार्य जारी, मुख्यमंत्री धामी पहुंचे आपदा कंट्रोल रूम, कल के सभी कार्यक्रम किए निरस्त ।।

पौड़ी गढ़वाल से दुखद खबर सामने आ रही है यहां लैंसडाउन के पास बरातियों के बस के गहरी खाई में गिरने की खबर है। हादसे में 8 लोगों की मौत हो गई। जबकि अन्य लोगों को तलाशा जा रहा है। बस में 40 बराती सवार बताए जा रहे हैं।
जानकारी के मुताबिक लालढांग से दोपहर करीब 12 बजे बरात लेकर एक बस बीरोंखाल ब्लॉक के कांडा तल्ला के लिए चली थी। शाम 7 बजे के करीब सिमड़ी के पास अनियंत्रित होकर गहरी खाई में जा गिरी। सूचना लगते ही आसपास के ग्रामीण मौके की तरफ दौड़े। उन्होंने घायलों को किसी तरह बाहर निकाला।
इसबीच गंभीर घायलों को अस्पताल पहुंचाने के प्रयास किए गए। बताया जा रहा है कि हादसे में आठ लोगों की मौत हो चुकी है। अन्य सवारों को तलाशा जा रहा है। जबकि बस में सवार कुछ घायलों ने किसी तरह खुद बाहर निकलकर परिचितों को हादसे की सूचना दी।
बस हादसे में मृत लोगों की शिनाख्त के प्रयास किए जा रहे हैं। वहीं घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया है। हादसे के बाद से दोनों ही गांवों में मातम पसर गया है।
इस बीच पौङी जिले में बस दुर्घटना की सूचना मिलते ही मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सचिवालय स्थित आपदा कंट्रोल रूम पहुंचे। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से दुर्घटना के बारे मे विस्तार से जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने डीएम पौङी से फोन पर बात कर उन्हें पूरी सतर्कता के साथ राहत और बचाव कार्य करने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने राज्य आपदा कंट्रोल रूम के अधिकारीयों को हालात पर लगातार नजर बनाए रखने और जिले के अधिकारीयों से लगातार सम्पर्क में रहने के निर्देश दिये। कहा कि शासन स्तर से हर सम्भव सहायता उपलब्ध कराई जाए।
मुख्यमंत्री ने फोन पर विधायक लैंसडाउन से भी बात की।
मुख्यमंत्री ने उत्तरकाशी की घटना की भी अद्यतन स्थिति की जानकारी ली।
मुख्यमंत्री ने अपने कल के पूर्व प्रस्तावित सभी कार्यक्रम स्थगित कर दिये हैं।
जनपद पौड़ी के धुमाकोट क्षेत्रान्तर्गत टिमरी गांव के पास बारात की बस हुई दुर्घटनाग्रस्त, SDRF रेस्क्यू टीमें मौके के लिए रवाना।
आज दिनाँक 04 अक्टूबर 2022 को समय 20:00 बजे SDRF को धुमाकोट से 70 किमी आगे टिमरी गांव में एक बारात की बस खाई में गिरने की सूचना प्राप्त हुई।
उक्त बस लालढांग हरिद्वार से काड़ागांव हेतु आ रही थी, जिसमें लगभग 40 लोग सवार है।
सेनानायक SDRF महोदय के निर्देशानुसार श्रीनगर, कोटद्वार, सतपुली व रुद्रपुर से SDRF की रेस्क्यू टीमें घटनास्थल के लिए रवाना है।

Ad Ad Ad Ad
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top