उत्तर प्रदेश

(राष्ट्रीय)बिहार में बड़ा राजनीतिक घटनाक्रम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दिया इस्तीफा, आरजेडी से मिलेंगे।

पटना : बिहार में बड़ा सियासी घटनाक्रम सामने आया जब नीतीश कुमार ने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया। शाम करीब 4 बजे नीतीश, राज्यपाल फागू चौहान से मिलने पहुंचे और अपना इस्तीफा सौंप दिया। उन्होंने कहा कि हमने एनडीए छोड़ दिया है, एनडीए छोड़ने के लिए सभी सांसद और विधायक राजी थे। उनसे बातचीत के बाद हमने ये फैसला लिया। उन्होंने ये भी बताया कि अब आरजेडी के साथ नई सरकार बनाएंगे। उन्होंने ने 160 विधायकों के समर्थन का दावा किया है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्यपाल ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है।
राजभवन से निकलकर राबड़ी आवास पहुंचे सीएम नीतीश
राज्यपाल फागू चौहान को इस्तीफा देने के बाद नीतीश जब राजभवन से बाहर निकले तो उन्होंने कुछ बातें भी कहीं। उन्होने कहा कि हम एनडीए में थे और अब एनडीए के मुख्यमंत्री पद से मैंने इस्तीफा दे दिया। साथ ही उन्होंने आरजेडी के साथ सरकार बनाने की भी बात कही। इसके बाद नीतीश कुमार सीधे राबड़ी आवास पहुंचे हैं। पूर्व सीएम राबड़ी देवी से मिलने पहुंचे हैं। उनके साथ ललन सिंह भी मौजूद हैं। वहीं आठवीं बार सीएम बनने का दावा पेश करने तेजस्वी यादव के साथ नीतीश कुमार दोबारा राजभवन जा सकते हैं।
नीतीश सीएम बनने का दावा पेश करने तेजस्वी के साथ दोबारा जा सकते हैं राजभवन सूबे में पिछले तीन दिनों से जारी राजनीतिक उठापटक का दौर आखिर दौर में पहुंच गया। जिस तरह से आरसीपी सिंह का मामला हुआ और पूर्व केंद्रीय मंत्री ने इस्तीफा दिया उसके बाद से ही सूबे में घमासान तेज हुआ। ये साफ लगने लगा कि बिहार में एनडीए गठबंधन टूट की कगार पर है। अब इस पर मुहर लग गई। मंगलवार को जेडीयू विधायकों और सांसदों के साथ नीतीश कुमार की अहम बैठक हुई। दूसरी ओर विपक्षी पार्टी आरजेडी ने भी पार्टी विधायकों के साथ राबड़ी आवास पर बैठक की। इसी बैठक के बाद अब नीतीश ने बड़ा फैसला ले लिया।
बीजेपी ने हमें धोखा दिया, पार्टी तोड़ने की कोशिश की’
इससे पहले जेडीयू विधायकों संग बैठक में नीतीश कुमार ने कहा कि बीजेपी ने हमें धोखा दिया, हमेशा अपमानित किया। उन्होंने पार्टी तोड़ने की कोशिश की। इसी के साथ बीजेपी से गठबंधन तोड़ने की जानकारी भी विधायकों को दी। वहीं जेडीयू विधायकों ने पूरे घटनाक्रम पर कहा कि वो नीतीश कुमार के साथ हैं। वो जो भी फैसला लेंगे जेडीयू विधायक उनके साथ होंगे।

Ad Ad Ad Ad
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top