उत्तर प्रदेश

(बड़ी खबर) तीन लोगों की मौत की जिम्मेदार मादा बघिन को जिंदा ना रख पाया CTR प्रशासन. बाघिन की मौत ‌।।

रामनगर-: जंगल से रेस्क्यू कर रेस्क्यू सेंटर लाई गई मादा बाघिन की मौत होने से कार्बेट टाइगर रिजर्व प्रशासन में हड़कंप मच गया।
उक्त जानकारी देते हुए जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क के उपनिदेशक दिगंत नायक ने बताया कि पनौत धनगढ़ी के समीप तीन लोगों की मौत के बाद उक्त मादा बाघिन को मानव वन्य जीव संघर्ष की रोकथाम हेतु कार्बेट टाइगर रिजर्व के सर्पदुली रेंज से 08. जुलाई.2022 को रेस्क्यू कर ढेला रेस्क्यू सैन्टर लाया गया था। तथा उन तीनों लोगों की मौत के बाद इस बाघिन का डीएनए टेस्ट में इस घटना की पुष्टि हुई थी, शनिवार को मादा बाघिन की मौत हो गई मृत मादा बाघ का शव-विच्छेदन नियमानुसार डॉ० दुष्यंत शर्मा वरिष्ठ पशु चिकित्सक कार्बेट टाइगर रिजर्व, रामनगर तथा डॉ० राहुल सती, वरिष्ठ पशु चिकित्सक पश्चिमी वृत्त, हल्द्वानी के संयुक्त पैनल द्वारा किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  (बड़ी खबर)सीएम धामी कल जागेश्वर में. करेंगे श्रावणी मेले का शुभारंभ।।

शव-विच्छेदन के उपरान्त मृत मादा बाघ के शव को जलाकर निस्तारित किया गया। इस दौरान श्री धीरज पाण्डे, निदेशक कार्बेट टाइगर रिजर्व श्री अजय कुमार ध्यानी, वन क्षेत्राधिकारी, ढेला रेंज, श्री कुन्दनसिंह खाती, एन०टी०सी०ए० द्वारा नामित सदस्य, श्री ललित अधिकारी, प्रतिनिधि द कार्बेट फाउन्डेशन, श्री सिद्धार्थ रावत, वन दरोगा, श्री हरपालसिंह वन आरक्षी सहित अन्य स्टाफ मौजूद रहे।

To Top