Connect with us
Advertisement

उत्तराखण्ड

(हल्द्वानी)नाबालिक के साथ दुष्कर्म के बाद हुई हत्या का पुलिस ने आज किया खुलासा ,दुष्कर्मीयो को पुलिस ने पहुंचाया सही जगह,यह है समाज के दुश्मन ।

Ad

हल्द्वानी 
बनभूलपुरा के इंदिरानगर से विगत 29 सितंबर से गुमशुदा 16 वर्षीय किशोरी के साथ हुए बलात्कार की घटना का खुलासा कर दिया है बनभूलपुरा क्षेत्र की इंदिरानगर चौक पोस्ट के सामने जंगल से संदिग्ध अवस्था में बरामद हुआ थी। जिसमें आज 7 अक्टूबर को पुलिस बहुद्देश्यीय भवन में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नैनीताल प्रीति प्रियदर्शनी के द्वारा खुलासा किया गया।
आपको बताते चलें कि विगत 30 सितंबर को मोहम्मदी मस्जिद छोटी रोड इंदिरा नगर निवासी रेशमा पत्नी मोहम्मद सलीम ने थाना बनभूलपुरा में एक तहरीर अपनी नाबालिग पुत्री की गुमशुदगी के संबंध में दी थी, जिसमे उनके द्वारा बताया गया था, कि विगत 29 सितंबर समय करीब 17 बजे उनकी पुत्री घर से बिना बताए कहीं चली गई थी। तहरीर के आधार पर थाना बनभूलपुरा द्वारा गुमशुदा नाबालिग की तलाश शुरू की। जिसमे वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नैनीताल के जनपद आदेशानुसार जनपद में नाबालिग बच्चो के तलाश/बरामदगी के प्रचलित आपरेशन स्माइली अभियान के क्रम में पुलिस अधीक्षक हल्द्वानी व क्षेत्रीय अधिकारी हल्द्वानी के निर्देशन में थानाध्यक्ष बनभूलपुरा प्रमोद पाठक के नेतृत्व में गुमशुदा की बरामदगी हेतु 03 तीन टीमें गठित की गई तथा सर्विलांस टीम की मदद भी ली गई।

टीमो के द्वारा थाना बनभूलपुरा क्षेत्रान्तर्गत गोजाजाली, इन्द्रानगर छोटी बड़ी लाइन, समस्त बगीचे, बरेली रोड के आस-पास लगे 100 से 125 सीसीटीवी कैमरे विगत 30 सितंबर से लगातार देखे गए तथा गुमशुदा की तलाश हेतु मुखबिर मामूर व पंपलेट चस्पा कर कार्यवाही अमल में लाई गई, जिसके पश्चात गौला रोखड़ के आस-पास आने जाने वाले लोगों से गुमशुदा का फोटो दिखा कर पूछताछ की गई, तो सीसीटीवी फुटेज व पूछताछ में दोनों संदिग्ध मोहम्मद दानिश पुत्र मोहम्मद दिलशाद निवासी वार्ड नंबर 31 मोहम्मदी चौक इंदिरा नगर व ज़ीशान पुत्र नसीम अंसारी निवासी एम मीनार के सामने बड़ी रोड इंदिरा नगर गुमशुदा के साथ विगत 29 सितंबर को घूमते हुए देखे गए।
वही पुलिस के द्वारा दोनों संदिग्धों को थाना बनभूलपुरा पर लाकर सख्ती से पूछताछ की गई, तो अभियुक्त दानिश ने बताया कि गुमशुदा से पूर्व से प्रेम प्रसंग रहा है, विगत 29 सितंबर को दानिश ने अपने दोस्त जीशान को बुलाया था, कि तुम गुमशुदा को बताना कि दानिश तुम से हिमालय स्कूल के सामने सड़क पर बनी पुलिया के नीचे बुला रहा है, गुमशुदा दानिश से प्यार करती थी, जो बुलाने पर आ जाएगी जिसे दानिश लेकर आ जाएगा, दानिश ने बोला मैं वही पुलिया के नीचे मिलूंगा। वही जीशान को गुमशुदा छोटी रोड पर मिली, जिसको रजा मस्जिद से होते हुए दानिश से मिलाने के बहाने वह बहला-फुसलाकर सड़क पार पुलिया के नीचे ले गया, वहां पर दानिश पहले से मौजूद था।

यह भी पढ़ें 👉  (हल्द्वानी)दशहरा मेला देखने आना है तो इन बातों को रखना होगा ध्यान, ट्रैफिक नियमों का इस तरह से करना होगा पालन, रूट होगा डायवर्ट ।

जिसके पश्चात दानिश ने गुमशुदा के साथ जबरदस्ती कर शारीरिक संबंध बनाए, फिर दानिश ने ज़ीशान से भी गुमशुदा से शारीरिक संबंध बनाने के लिए कहा, तो गुमशुदा ने जीशान से शारीरिक संबंध बनाने के लिए मना करने लगी, जिसके बाद दानिश ने गुमशुदा के हाथ पकड़ और ज़ीशान ने उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए। वही शारीरिक संबंध बनाने के पश्चात गुमशुदा बोली मैं यहां बात अपने घर में अपनी मम्मी को बताऊंगी, अब मैं तुम दोनों को जेल भिजवा दूंगी, फिर डर के मारे हम दोनों ने गुमशुदा को जान से मारने की ठानी।

यह भी पढ़ें 👉  बिग ब्रेकिंग-:उत्तराखंड में हेली सेवा से यात्री ले रहे हैं लाभ, इस किराए में कर सकते हैं यात्रा,यात्री ले रहे हैं घंटों की यात्रा का मिनटों में लाभ ।

ज़ीशान ने गुमशुदा के हाथ पकड़े एवं दानिश में गुमशुदा के हाथ दुपट्टे को फाड़कर व पतला रस्सी नुमा बनाकर उसका गला घोट दिया, फिर दोनों ने गुमशुदा को उठाकर गौला जंगल की तरफ गंदे पानी के नाले में फेंक दिया, जिसको दोनों ने जूट के गद्दे से दबा दिया, जिससे किसी को पता ना चल पाए। दोनों ने गुमशुदा के कपड़े जिसमें आधी फ़टी चुन्नी, प्लाजो, अंडरवियर व चप्पल जहां गुमशुदा का शव नाले में डाला था, उससे कुछ दूर पहले झाड़ी में फेंक दिया तथा उसका मोबाइल भी तोड़कर गंदे नाले में फेंक दिया था।
इधर पुलिस ने अभियुक्त गणों की निशानदेही पर गुमशुदा मृतक का शव हिमालय स्कूल के सामने गोला के जंगल में बह रहे गंदे नाले से बरामद किया गया तथा मौके पर फॉरेंसिक टीम को बुला कर साक्ष्य एकत्रित किए गए एवं पंचनामा की कार्यवाही कर मृतक के शव को चिकित्सकों के पैनल से पोस्टमार्टम कराने हेतु मोर्चरी भेजा गया।
पुलिस ने मृतक के शव के बरामदे के आधार पर अभियुक्तों के खिलाफ संबंधित धाराओं के तहत पोस्को एक्ट की बढ़ोतरी की गई तथा अभियुक्त गणों की निशानदेही पर गुमशुदा मृतक के कपड़े, चप्पल बरामद किए गए। अभियुक्त गणों की गिरफ्तारी करने के पश्चात उन्हें न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  बिग ब्रेकिंग-:चार राज्यों के लिए चुनाव आयोग ने दिए है यह दिशा निर्देश, 3 साल से टिके अधिकारियों का होगा स्थानांतरण।।

पुलिस टीम में थानाध्यक्ष बनभूलपुरा प्रमोद पाठक, उपनिरीक्षक दीवान सिंह बिष्ट, उपनिरीक्षक कुसुम रावत, उपनिरीक्षक अमरपाल, उप निरीक्षक सादिक हुसैन, कॉन्स्टेबल संजय साहनी, कॉन्स्टेबल अमनदीप सिंह, कॉन्स्टेबल दिलशाद हुसैन, कॉन्स्टेबल मदन सिंह, कॉन्स्टेबल हरि कृष्ण मिश्रा, महिला कॉन्स्टेबल सुनीता सिपला, महिला कॉन्स्टेबल पुनीता पाठक शामिल थे।

Ad
Ad
Continue Reading

पोर्टल का मुख्य उद्देश्य उत्तराखंड तथा देश-विदेश की ताज़ा ख़बरों व महत्वपूर्ण समाचारों से आमजन को रूबरू कराना है। अपने विचार या ख़बरों को प्रसारित करने हेतु हमसे संपर्क करें। Email: [email protected] | Phone: +91 94120 37391

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in उत्तराखण्ड

Trending News

Like Our Facebook Page

Advertisement

Ad