Connect with us

उत्तर प्रदेश

देहरादून[email protected]_ बीती रात की आपदा में अब तक 7 लोग लापता,कई लोग हुए एअरलिफ्ट,मैक्स अस्पताल जाकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने जाना घायलों का हाल, राहत एवं ढूंढ खोज अभियान अभी भी जारी ।।


देहरादून दिनांक 20 अगस्त-:

गत रात्रि हुई भारी वर्षा से जनपद के कई क्षेत्रों में नुकसान हुआ है। भारी वर्षा से रायपुर-थानों मोटर मार्ग पर सोंग नदी पुल का एक हिस्सा

जिलाधिकारी श्रीमती सोनिका रात से ही घटनास्थल पर रहे मौजूद

क्षतिग्रस्त हो गया है तथा मालदेवता सरखेत, तिमली, मानसिंहवाला, भैंसवाड़ा, सेरकी, छमरोली आदि स्थानों पर नुकसान की सूचना पर जिलाधिकारी श्रीमती सोनिका प्रातः 6 बजे से ही मौके पर मौजूद रहकर राहत बचाव कार्यों का संपादन कर रहीं है। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों का हाल-चाल जाना एवं राहत बचाव कार्य में संबंधित अधिकारियों को आवश्यक-दिशा निर्देश दिए। सरखेत से तीन घायलों को एयरलिफ्ट करवाकर अस्पताल में उपचार हेतु भर्ति किया गया। रास्ते में नीचे उतरते समय जिलाधिकारी की हाथ में हल्की चोट आई। रात्रि में अतिवृष्टि के चलते जिलाधिकारी ने 2 बजे रात्रि को आईआरएस एक्टिव किया। जिलाप्रशासन एवं संबंधित अधिकारियों ने अपने दायित्च का निर्वहन करते हुए, लोगों को सुरक्षित स्थान में पहुंचाने का कार्य किया। सरखेत क्षेत्र के आपदा प्रभावितों को भोजन एवं राहत सामाग्री आपदा प्रबंधन कार्यालय से रवाना किया गया।


इससे पूर्व रात्रि भारी बारिश के चलते जिलाधिकारी ने प्रातः 06 बजे से ही आपदा परिचालन केन्द्र पर मौजूद रहकर जानकारी प्राप्त की तथा नुकसान की सूचना मिलने पर तत्काल प्रभावित क्षेत्र को रवाना हो गई। तथा मुख्य विकास अधिकारी झरना कमठान आपदा कंट्रोल रूम पर मौजूद रहकर जिलाधिकारी के निर्देश के क्रम में प्रभावित क्षेत्रों में खाद्य रसद सामग्री के साथ ही उपकरण आदि भेजने के कार्यों की मॉनिटरिंग के साथ ही जनपद में हुए नुकसान की सूचना प्राप्त करते हुए तत्काल सहायता भिजवाई गई। जनपद के सरखेत में अतिवृष्टि से घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं तथा कुछ लोग घायल हैं, जिन्हें एयरलिफ्ट करते हुए उपचार हेतु अस्पताल मैक्स में भर्ती करवया गया तथा क्षेत्र में चिकित्सा टीम उपकरण सहित मौजूद है तथा राहत बचाव कार्यों में एसडीआरएफ, पुलिस, जिला प्रशासन की टीम मौजूद है, सेना भी राहत बचाव लग गई है। आपदा कंट्रोल रूम से मौके पर मौजूद अधिकारियों से समन्वय करते हुए सहायता एवं टीम भेजी जा रहीं हैं। मुख्य विकास अधिकारी द्वारा आपदा कन्ट्रोलरूम से जनपद की तहसीलों से अद्यतन सूचना प्राप्त की जा रही है। जिला प्रशासन द्वारा प्रभावित क्षेत्र में राशन, बर्तन, दूध, पलंग, बिस्तर, महिलाओ, पुरूषों एवं बच्चों हेतु कपड़े, स्ट्रेचर, गैस सिलेण्डर आदि सामग्री प्रभावितों हेतु भेजी गई है। जिला प्रशासन द्वारा जनपद के सीमावर्ती गावं से सठे कुमाल्टा टिहरी गढवाल में प्रभावितो हेतु लगभग 300 पैकेट भोजन के पैकेट भिजवाए गए। आपदा कन्ट्रोलरूम से सम्बन्धित विभागों से तहसीलवार हुए नुकसान की सूचना अद्यतन की जा रही
गित रात्रि हुई भारी वर्षा एवं बादल फटने की घटना से मोलदेवता में अवस्थित रिजोर्ट में 06 टैन्ट बहने, सरखेत में 25 मकान एवं प्राथमिक विद्यालय भवन एवं 06 दुकाने क्षतिग्रस्त, सौड़ा सरोली में सौंग नदी पुल का एक हिस्सा ढहने से 02 लोग लापता है तथा भैंसवाड़ गांव के मुसनीवाला खाला के पास अतिवृष्टि के कारण मलवा आने से 03 व्यक्ति घायल तथा 05 व्यक्ति लापता है। घायलों को एयरिलिफ्ट करते हुए मैक्स अस्पताल में भर्ती किया गया है। इसी प्रकार सौंग नदी के पुल की चपेट में आने वाली 01 कार जिसमें 5 लोग सवार थे सभी को बचा लिया गया है तथा उनका उपचार हिमालयन हाॅस्पिटल जौलीग्रान्ट में चल रहा है। उपरोक्त अतिवृष्टि से जनपद में 8 लोग घायल जिनका उपचार चल रहा है तथा 7 लोग अभी लापता है जिनकी खोजबीन हेतु रेस्क्यू चल रहा है। तथा कुल 28 पशुओं की हानि हुई है। जिनमें ग्राम छमरोली/सरखेत मेें 9 गाय, 1 भैंस, 4 बछड़े व 10 बकरी तथा भैंसवाड़ में 3 गाय, 1 बछड़े की आपदा की चपेट में आने से मृत्यु हो गई। इसी प्रकार जनपद के विभिन्न तहसीलों में कृषि भूमि कटाव, जल भराव, पुस्ता क्षतिग्रस्त, विद्युत लाइन, पेयजल लाइन आदि क्षतिग्रस्त होने की सूचना प्राप्त हुई है जिनकी कुल अनुमानित लागत 1270.20 लाख आंकी गई है जिसकी बढ़ने की संभावना है तथा तहसील स्तर पर नुकसान का जायजा लिया जा रहा है।
जिलाधिकारी ने जिला प्रशासन के अधिकारियो के साथ आपदा प्रभावित क्षेत्र सरखेत में मौके पर पंहुचकर राहत बचाव कार्यों की माॅनिटिरिंग के साथ जिला प्रशासन के अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए। इस दौरान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलीपि सिंह कुवंर, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व के.के मिश्रा, पुलिस अधीक्षक नगर सरिता डोभाल, ग्रामीण कमलेश उपाध्याय, नगर मजिस्टेªट कुसुम चैहान, तहसीलदार सदर सोहन सिंह रांगण सहित जिला प्रशासन के अधिकारी मौजूद रहे तथा आपदा कन्ट्रोलरूम में मुख्य विकास अधिकारी झरना कमठान, अपर जिलाधिकारी प्रशासन डाॅ. एस के बरनवाल, निदेशक ग्राम्य विकास अभिकरण आर.सी तिवारी, जिला पंचायतीराज अधिकारी एम.एम खान, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी शशिकान्त सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

Continue Reading
Advertisement

पोर्टल का मुख्य उद्देश्य उत्तराखंड तथा देश-विदेश की ताज़ा ख़बरों व महत्वपूर्ण समाचारों से आमजन को रूबरू कराना है। अपने विचार या ख़बरों को प्रसारित करने हेतु हमसे संपर्क करें। Email: [email protected] | Phone: +91 94120 37391

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in उत्तर प्रदेश

Uttarakhand News

Uttarakhand News
Ad

Trending News

Like Our Facebook Page

Author

Founder – Om Prakash Agnihotri
Website – www.uttarakhandcitynews.com
Email – [email protected]