उत्तराखण्ड

बड़ी खबर(उत्तराखंड) डीएम का अस्पताल में छापा.दो डॉक्टर गायब मिलने पर नाराज. पर्चे पर लिखी दवाइयां की करी जांच।।

जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया। उपस्थिति पंजिका का अवलोकन में दो डॉक्टर नदारद मिले। जिलाधिकारी ने सीएमएस को दोनों डॉक्टर का स्पष्टीकरण लेने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने मरीजों के पर्चे पर डॉक्टर द्वारा लिखी गई दवाइयों की भी पड़ताल की। जिलाधिकारी ने जनरल और महिला वार्ड में भर्ती मरीजों का हालचाल जाना। और भर्ती मरीजों से डॉक्टर द्वारा किए जा रहे उपचार के बारे में जाना। जनरल वार्ड में भर्ती ग्वालदम एसएसबी के जवान माही सिंह पर जिलाधिकारी की नजर पड़ी तो जिलाधिकारी ने उनके भर्ती होने की जानकारी ली। वहीं जिलाधिकारी ने महिला वार्ड में मंडल सेरा की शालनी और अमसरकोट के अंकित का भी हालचाल जाना। जिलाधिकारी ने सीएमएस को भर्ती मरीजों के बेहतर ईलाज करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने एचडीयू में भर्ती मरीजों का भी हालचाल जाना।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर(नैनीताल) डीएम वंदना ने NH के संवेदनशील स्थलों का किया निरीक्षण।।

जिलाधिकारी ने जिला अस्पताल में चल रहे मरम्मत एवं सौन्द्रीयकर्ण के कार्यों का भी निरीक्षण कर जायजा लिया। जिलाधिकारी ने सीएमएस को निर्देशित करते हुए कहा कि निर्माण कार्यों में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए। तथा कार्यदायी संस्था को तय समय के भीतर कार्य पूर्ण करने की हिदायत दी गई। जिलाधिकारी ने अल्ट्रासाउंड,एनबीएसयू, सीटी स्कैन,एक्सरे रूम, ओटी,एचडीयू,एमरजेंसी का निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने जिला अस्पताल में साफ सफाई का विशेष ध्यान रखने के साथ ही जिला अस्पताल में इधर उधर पड़ी खराब सामग्री को निष्प्रयोज्य करने के निर्देश सीएमएस को दिए।
ओपीडी में मरीजों एवं तीमारदारों की बढ़ती तादात को देखते हुए जिलाधिकारी ने व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के साथ ही भीड़ नियंत्रित करने को लेकर पीआरडी की तैनाती करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि जिला अस्पताल में दूर दराज के मरीज अपने ईलाज कराने के लिए आते है। यहां तक पड़ोसी जिला चमोली के मरीज भी यहां उपचार कराने आ रहें है। जिलाधिकारी ने डॉक्टर्स से अपेक्षा करते हुए कहा कि मरीजों की पीड़ा को समझा जाए तथा उनके साथ नर्मता एवं शालीनता का व्यवहार पेश किया जाए। ताकि वह मरीज खुश और ठीक होकर यहां से जाए। निरीक्षण के दौरान सीएमएस डॉ वीके टम्टा मौजूद रहे। बागेश्वर न्यूज़

To Top