उत्तराखण्ड

श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ(लालकुआं) कथा व्यास डॉक्टर पंकज मिश्रा मयंक ने सुनाया राजा परीक्षित मोक्ष का वृतांत।।

लालकुआं श्री राधे-राधे सेवा समिति के तत्वाधान में 25 एकड़ रोड जाल में चल रहे श्रीमद् भागवत कथा के सातवें दिन प्रख्यात कथा वाचक डॉ0 पंकज मिश्रा मयंक के मुखारविंद से श्रद्धालुओं ने सुदामा के चरित्र तथा भगवान के अनन्य विवाह पर विस्तार पूर्वक वर्णन किया, कथा पंडाल में
श्रीकृष्ण.सुदामा मिलन प्रसंग सुनाते हुए उन्होंने कहा कि विश्व में शांति का माहौल तैयार करना है तो श्रीकृष्ण. सुदामा जैसी मित्रता को महत्व देना होगा, उन्होंने कहा कि सुदामा के चरित्र की कथा संपूर्ण प्रेरणादायक है .भगवान श्री कृष्णा की मित्रता एक निर्धन ब्राह्मण के साथ जो सबके जगतपति हैं ऐसी मित्रता नहीं कोई कर सकता ,भगवान कृष्ण ने आदर्श प्रस्तुत किया समाज को सुदामा जैसे ब्राह्मण मिलना भी संभव नहीं है स्वाभी, त्यागी, तपस्वी जिसके जीवन का उद्देश्य सिर्फ कृष्णा था इसके अलावा कोई नहीं ।
राजा परीक्षित प्रसंग पर बोलते हुए वेदव्यास मिश्रा ने कहा कि श्रंगी ऋषि के श्राप को पूरा करने के लिए तक्षक नामक सांप भेष बदलकर राजा परिक्षित के पास पहुंचकर उन्हें डंस लेते हैं और जहर के प्रभाव से राजा का शरीर जल जाता है और मृत्यु हो जाती है। लेकिन श्री मद् भागवत कथा सुनने के प्रभाव से राजा परीक्षित को मोक्ष प्राप्त हुआ इसके बाद सात दिनों से चल रही श्रीमद् भागवत कथा ज्ञान यज्ञ का विधिवत समापन हो गया।

यह भी पढ़ें 👉  (बड़ी खबर)सीएम धामी कल जागेश्वर में. करेंगे श्रावणी मेले का शुभारंभ।।

इस दौरान भारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष प्रदीप बिष्ट. जिला पंचायत सदस्य कमलेश चंदोला, भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल के कमांडेंट पवन कुमार. अश्वनी कुमार, पूर्व नगर पंचायत के अध्यक्ष रामबाबू मिश्रा, पवन कुमार चौहान, उर्मिला मिश्रा जीवन कबडवाल,पूर्व ग्राम प्रधान बी डी खोलिया, राधे राधे सेवा समिति के अध्यक्ष संजीव शर्मा, उमेश तिवारी, भोलाराम, कुलदीप मिश्रा सहित भारी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित है।।

To Top