Connect with us
Advertisement

उत्तर प्रदेश

बिग न्यूज[email protected]_ फिर मिले केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से केंद्रीय मंत्री अजय भट्ट जमरानी बांध को लेकर फिर कहीं यह बात ।।

केंद्रीय रक्षा एवं पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट ने जमरानी बांध निर्माण को लेकर केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से भेंट करते हुए 2584 करोड़ की लागत से बनने वाली जमरानी बांध परियोजना को एडीबी के पूर्व विश्लेषण के आधार पर ही निर्माण प्रारंभ करने की मांग की है। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से शिष्टाचार मुलाकात करते हुए कहा कि बार-बार एडीबी के पुनः विश्लेषण से केवल विलंब हो रहा है जबकि कई दशकों से की जा रही मांग के बाद केंद्रीय जल आयोग ने जमरानी बांध योजना स्वीकृत की है। लंबे समय से उठ रही मांग और तराई भाबर में पेयजल का भारी संकट होने के कारण लोगों का पलायन प्रारंभ हो रहा था, इस योजना के बनने से 14 मेगावाट बिजली का उत्पादन बढ़ेगा और उत्तराखंड एवं उत्तर प्रदेश में डेढ़ लाख हेक्टेयर में सिंचाई होगी।

Ad
यह भी पढ़ें 👉  ब्रेकिंग[email protected]_हल्द्वानी के इस हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा, 8 घंटे के अंदर हुए हत्यारे सलाखों के पीछे,आज के The Pioneer से Increase registration counters for Char Dham Yatris- Agarwal ।।

श्री भट्ट ने कहा कि एडीबी द्वारा परियोजना के संबंध में “दो कंसल्टेशन” मिशन आयोजित किए जा चुके हैं। परियोजना का वित्तीय एवं आर्थिक विश्लेषण तथा पर्यावरणीय परीक्षण एडीबी के मानकों के अनुसार प्रारंभिक रिपोर्ट में प्रस्तुत किया जा चुका है। इसके अलावा उस रिपोर्ट के सकारात्मक होने के पश्चात एडीबी द्वारा दिसंबर 2021 में तकनीकी परीक्षण हेतु “पैनल ऑफ एक्सपर्ट” का गठन किया गया। जिसके पश्चात 31 जनवरी से 6 फरवरी 2022 तक बांध स्थल का दौरा कर बांध परियोजना के सम्यक निर्माण एवं सुरक्षा की दृष्टि से अध्ययन/ अन्वेषण/ अनुसंधान प्रस्तावित किए गए हैं जिस पर पीआईयू द्वारा कार्य प्रारंभ किया जा चुका है। जो अब माह जुलाई 2022 तक संपादित होगा, अब ऐसी जानकारी मिल रही है। जबकि पूर्व में जुलाई 2022 से जमरानी का कार्य प्रारंभ होने की बात आई थी।

यह भी पढ़ें 👉  (आज की सबसे बड़ी खबर)उत्तराखंड सम्मिलित राज्य सिविल प्रवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा के परिणाम हुए घोषित, देखें लिस्ट ।।

श्री भट्ट ने केंद्रीय वित्त मंत्री को अवगत कराते हुए कहा है कि परियोजना की डीपीआर केंद्रीय जल आयोग भारत सरकार सहित विभिन्न विभागों द्वारा स्वीकृत है। और उनके संज्ञान में आया है की केंद्रीय जल आयोग भारत सरकार द्वारा स्वीकृत डीपीआर के तकनीकी पहलुओं का एडीबी द्वारा पुनः विश्लेषण किया जा रहा है । जिसमें एडीबी द्वारा पूर्व में दी गई समय सारणी प्रभावित होने की संभावना है ऐसी स्थिति में बांध हेतु ऋण स्वीकृति सहित कार्य प्रारंभ होने में विलंब होना प्रतीत हो रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  ब्रेकिंग:विधायक मोहन सिंह बिष्ट ने बरसाती नाले के डायवर्जन करने के दिए निर्देश,गौलापार क्षेत्र में तांडव मचाता है बरसाती नाला पढ़ें आज के The Pioneer से 5 pilgrims from West Bengal & local driver killed in mishap

श्री भट्ट ने बताया कि राज्य में मुख्य सचिव की अध्यक्षता में संपन्न बैठक में बाढ़ प्रभावित क्षेत्र के लोगों के पुनर्वास और भूमि आवंटित किए जाने पर सहमति बनने के बाद मास्टर प्लान तैयार किया जाने की कार्यवाही गतिमान है। अब सिर्फ प्राग फार्म की उक्त भूमि राजस्व विभाग द्वारा सिंचाई विभाग को हस्तांतरित की जानी है, ताकि डूब क्षेत्र के लोगों को यहां पर बसाया जा सकेI

Continue Reading
Advertisement

पोर्टल का मुख्य उद्देश्य उत्तराखंड तथा देश-विदेश की ताज़ा ख़बरों व महत्वपूर्ण समाचारों से आमजन को रूबरू कराना है। अपने विचार या ख़बरों को प्रसारित करने हेतु हमसे संपर्क करें। Email: [email protected] | Phone: +91 94120 37391

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

More in उत्तर प्रदेश

Uttarakhand News

Uttarakhand News

Trending News

Like Our Facebook Page

Author

Founder – Om Prakash Agnihotri
Website – www.uttarakhandcitynews.com
Email – [email protected]